ताज़ा खबर
 

प्रियंका गांधी के उतरने से BJP के लिए आसान नहीं रह जाएगी यूपी की जंग

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर का भी कहना है कि प्रियंका को राजनीति में आना चाहिए।
Author नई दिल्‍ली | July 5, 2016 16:30 pm
चुनाव प्रचार के दौरान प्रियंका गांधी। (Source: Express file photo by Ravi Kanojia)

प्रियंका गांधी उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का नेतृत्‍व करने जा रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रियंका पहली बार अमेठी और रायबरेली से बाहर भी पार्टी के लिए प्रचार करेंगी। इसके साथ ही वे सक्रिय राजनीति में कदम रखेंगी। हालांकि उनके चुनाव लड़ने पर संशय है। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर का भी कहना है कि प्रियंका को राजनीति में आना चाहिए। हालांकि वह खुद इससे इनकार करती रही हैं। लंबे समय से कांग्रेस के अलग-अलग नेता प्रियंका को राजनीति में लाने की मांग करते रहे हैं। गाहे-बगाहे यूपी से भी प्रियंका के समर्थन में पोस्‍टर-बैनर सामने आते रहे हैं। अगर प्रियंका गांधी राजनीति में आती हैं तो यह कांग्रेस के लिए संजीवनी के साथ ही मास्‍टर स्‍ट्रोक भी साबित होगा। आइए जानते हैं प्रियंका का राजनीति में आना कांग्रेस के लिए कैसे फायदेमंद होगा:

राज खन्ना की रिपोर्ट : प्रियंका गांधी को लेकर कांग्रेसी उत्साहित, विपक्षी दल बेफिक्र

नया चेहरा: प्रियंका गांधी अभी तक अमेठी और रायबरेली में ही चुनाव प्रचार करती रही हैं। इन दोनों सीटों पर कांग्रेस को जिताने का जिम्‍मा उन्‍हीं पर होता है। यहां के अलावा वह और कहीं प्रचार नहीं करती हैं। अगर वे सक्रिय राजनीति में आती हैं तो कांग्रेस को नया चेहरा मिलेगा। सोनिया गांधी बीमार रहती हैं और राहुल गांधी पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रेरित नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के पास केवल प्रियंका का ही विकल्‍प बचता है। पार्टी के कई वरिष्‍ठ नेता भी उनके पक्ष में आवाज उठा चुके हैं।

कार्यकर्ताओं में जोश: उत्‍तर प्रदेश में लंबे समय से प्रियंका गांधी को लाने की मांग उठती रही है। यहां के कार्यकर्ता और नेता कई बार उन्‍हें राजनीति में लाने की मांग कर चुके हैं। अगर उन्‍हें लाया जाता है तो यूपी में मृतप्राय हो चुके कांग्रेस कैडर में फिर से जान आ जाएगी। कांग्रेस वर्कर्स में प्रियंका गांधी को लेकर उत्‍साह भी है। उनके नाम पर सभी खेमे एकमत हैं और प्रियंका के आने से यूपी में कांग्रेस के दिन फिर सकते हैं।

UP चुनाव: प्रियंका ने बढ़ाई सक्रियता, बढ़ी कांग्रेसियों की उम्मीद

इंदिरा की छवि: लंबे समय से कहा जा रहा है कि प्रियंका में उनकी दादी इंदिरा गांधी की छवि दिखती है। उनके भाषण देने की शैली भी इंदिरा जैसी ही है। आम जनता कांग्रेस के अन्‍य नेताओं के बजाय प्रियंका के भाषणों से जल्‍दी जुड़ाव महसूस करती हैं। रायबरेली में वे गांवों में जाती रहती हैं। वहां पर प्रियंका आसानी से उनसे घुलमिल जाती है। इसी तरह की आदत इंदिरा गांधी की भी थी।

मोदी को चुनौती देने वाला नेता: आम चुनाव और इसके बाद हुए विधानसभा चुनावों से साफ हो चुका है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमलों का जवाब राहुल गांधी नहीं दे पाते हैं। उनके भाषणों से पार्टी का कार्यकर्ता उत्‍साहित महसूस नहीं करता। साथ ही पार्टी के बड़े भी राहुल की कार्यशैली पर सवाल उठा चुके हैं। पिछले दिनों पांच राज्‍यों के चुनावों में हार के बाद तो कांग्रेस में सर्जरी की जरूरत की मांग उठी थी। इसके चलते प्रियंका के आने से कांग्रेस को मोदी का मुकाबला करने वाला नया चेहरा मिलेगा। जिस तरह से आम चुनावों में देश की जनता पीएम मोदी के साथ जुड़ गई थी। उसी तरह यूपी भी प्रियंका के साथ जा सकता है।

UP Elections 2017: कांग्रेस के प्रचार की कमान संभालेंगी प्रियंका गांधी, BJP ने कहा- फेल हो गए राहुल

महिला होने का फायदा : यूपी में जहां बसपा प्रमुख मायावती अपनी पार्टी की ओर से सीएम पद की दावेदार होंगी तो भाजपा में भी स्‍मृति ईरानी और सुषमा स्‍वराज का नाम चल रहा है। ऐसे में अगर कांग्रेस प्रियंका के नाम के साथ मैदान में उतरती है तो उसे फायदा ही होगा। प्रियंका युवा चेहरा भी हैं तो युवा वर्ग भी कांग्रेस के पक्ष में आ सकता है।

आसान नहीं राह: हालांकि प्रियंका के आने से रॉबर्ट वाड्रा को लेकर चल रहे मामले में भाजपा के हमले तेज हो सकते हैं। साथ ही यह सवाल भी उठ सकता है कि राहुल गांधी का भविष्‍य क्‍या होगा। प्रियंका के नेतृत्‍व में यूपी में अगर कांग्रेस अच्‍छा प्रदर्शन करती है तो फिर उन्‍हें राष्‍ट्रीय स्‍तर पर लाने की मांग उठने लगेगी। इससे राहुल गांधी के बैकफुट पर जाने का खतरा हो जाएगा। हालांकि कांग्रेस नेता कह रहे हैं कि राहुल गांधी राष्‍ट्रीय नेता हैं। एक तथ्‍य यह भी है कि 2014 के चुनावों में प्रियंका ने राहुल के लिए अमेठी में प्रचार किया था। बावजूद इसके राहुल केवल एक लाख वोटों से जीत पाए थे जबकि अमेठी कांग्रेस का गढ़ रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    abhishek
    Jul 5, 2016 at 11:58 am
    शी इस नीड ऑफ़ थे ऑवर... िफ कांग्रेस वांट तो सर्वाइव टिल २०१९, थें शी हस तो कई
    (0)(0)
    Reply
    1. B
      brijesh
      Jul 6, 2016 at 6:43 am
      प्रियंका गांधी के चुनाव प्रचार से केवल राहुल गांधी और उनके चाटुकारो को दिक्कत हो सकती है प्रचार वो बहुत दिन से कर रही है लेकिन कांग्रेस का नसीब नहीं बदलने वाला कांग्रेस को अपने कर्मो के दण्ड भुगतना ही पड़ेगा अमेठी में एक भी विधानसभा कांग्रेस नहीं जीत पायेगी कांग्रेस का ये आखिरी बाण बेकार जायेगा पहले प्रियंका रावर्ट वाड्रा के बारे में जो भी जमीन घोटाले है उनके बारे में सच्चाई बताये
      (0)(0)
      Reply
      1. A
        anand prakash
        Jul 11, 2016 at 11:18 am
        समय बतायेग कि भा जा पा के अमित जी कैसे अपनी पार्टी को कैसे उबारे गे केवल आसम में जीतने से कुछ नहीं होता। इसके अलावा अाप को मालूम है आप का क्या हाल हुआ।
        (0)(0)
        Reply
        1. D
          dinesh singh
          Jul 5, 2016 at 1:37 pm
          प्रियंका गांधी जी को एक बिधानसभा में जीत करके ५ साल उस बिधानसभा में काम करके काम का उदाहरड दे करेके तभी जनता को बिस्वास होगा क्योकि राहुल जी अमेठी में सोनिया जी रायबरेली में काम नहीं किया दोनों जगहों पर ६० साल में काम नहीं हुआ आप की माता जी भाई जी दोनों छेत्रो का उडाहरड़ नहीं दे सकते है क्यों की वहां अति गरीबी है ०२ साल में मोदी जी को गरीबो ने माना है मोदी जी ने ठाना है गरीबी सब्द को मिटाना है A TO Z तक गरीबो को सबल बनाना है जय हिन्द
          (0)(0)
          Reply
          1. M
            manoj kumar
            Jul 11, 2016 at 3:25 pm
            Modi ji delhi ke janta or delhi sarkar ke sath jo kar rhe hai wo sara desh dekh rha hai Ha ak bat or agr reeyal me delhi sarkar kuchh nhi kar sakta hai to fir delhi me 70 bidhayk or mantry kiyo isko kendr sarkar sambhale or jo janta ka paisa bidhayk ke selri me jata hai whi paisa se janta ka vikas hoga Jai hind jai bhart
            (0)(0)
            Reply
            1. S
              singh rohit
              Jul 5, 2016 at 11:42 am
              आप न्यूज़ वाले सैतान को भी भगवान बना देते हो ये किसने बोल की बी.ज.पि की रह आसान नहीं होगी जो इनके पूर्वजो न देश क साथ किया ह वो जनता समझ चुकी ह इनके आने से बी.ज.प. और भी मजबूत हो जाएगी
              (1)(0)
              Reply
              1. S
                singh rohit
                Jul 5, 2016 at 11:46 am
                और एक बात देश को नेता की जरूरत कम मीडिया की ज्यादा जरूरत ह तो आप न्यूज़ वालो से विनती ह की देश का साथ दो जो देश क लिए अच्छा क्र रहा ह जो देश को आगे ले जा रहा ह उसका साथ ....देश को गड्ढे म न धकेलो ...ये देश आपका भी ह जो ी ह उसको दिखाए उसी का प्रचार करे कांग्रेस न क्या किया ह वो मुझसे अच्छे से आप लोग जानते ह
                (1)(0)
                Reply
                1. S
                  singh rohit
                  Jul 5, 2016 at 11:52 am
                  देश की चिंता करने की जरूरत ह हम सभी को ....किसी को इंदिरा गांधी कहने से वो इंदिरा गांधी नहीं हो जाएँगी /देश की जरूरत ह मोदी ....यह ही नेता ह इस देश म जो देश के बारे म सोचता ह वो नेता ह हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी उनको जरूरत ह हमारी और न्यूज़ वाले माननीय लोग आप लोगो की;;;;; support modi ji support india
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. S
                    Santosh
                    Jul 5, 2016 at 11:00 am
                    प्रशांत किशोर ----- इसमें यह भी साहब का क्या कारनामा हे पहले मोदी की लहर से बीजेपी जीती - फिर उसके बाद मोदी के गलत प्रचार से बिहार में बीजेपी हारी !
                    (1)(0)
                    Reply
                    1. Load More Comments
                    सबरंग