ताज़ा खबर
 

अखिलेश यादव सरकार के इन 7 बड़े फैसलों पर चल चुकी है योगी आदित्य नाथ की तलवार

योगी आदित्य नाथ ने महीने भर के अंदर ही अखिलेश सरकार की सात बड़ी योजनाओं पर ब्रेक लगा दिया है।
सीएम पद की शपथ लेने के बाद प्रधानमंत्री का अभिवादन करते योगी आदित्य नाथ।

देश के सबसे बड़े राज्य का सीएम बनने के बाद से ही योगी आदित्य नाथ एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं।योगी कुर्सी संभालते ही अपने चुनावी वादों को अमली जामा पहनाने में जुट गए। योगी सरकार अपने एजेंडे के हिसाब से रोज नई योजनाएं तो बना ही रही है साथ ही पुरानी सरकार की योजनाओं की विवेचना भी बड़ी रफ्तार से कर रही है। आदित्य नाथ ने कुछ ऐसे फैसले लिए जो सीधे तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्णयों पर भारी पड़ा। योगी आदित्य नाथ ने महीने भर के अंदर ही अखिलेश सरकार की सात बड़ी योजनाओं पर ब्रेक लगा दिया है। इसके साथ ही योगी पिछली सरकार की तमाम योजनाओं की समीक्षा भी कर रहे हैं। इस समीक्षा के बाद जिन योजनाओं में सुधार की गुंजाइश होगी उनमें सुधार होगी और जिनमें गुंजाईश नहीं बची होगी उन्हें बंद कर दिया जाएगा।

पिछले दिनों योगी ने अखिलेश के ऊपर सबसे बड़ा चोट करते हुए सभी सरकारी योजनाओं में से समावादी शब्द हटाने का फैसला ले लिया। योगी के इस फैसले ने अखिलेश को तकलीफ तो जरूर पहुंचाई होगी लेकिन वो भी जानते हैं कि अब उनके हाथ में कुछ नहीं बचा। योगी ने अखिलेश के समाजवादी सरकार जिन 7 योजनाओं पर कैंची चलाई है वो इस प्रकार से हैं:

1.समाजवादी पेंशन योजना थमी
2.समाजवादी आवास स्कीम बंद
3.अखिलेश की तस्वीर वाले राशन कार्ड रद्द
4.वीआईपी शहरों की लिस्ट बदली
5.पोषण मिशन कमेटी भंग
6.गोरखपुर पहुंचेगी मेट्रो
7.योजनाओं से समाजवादी शब्द हटाया

इसके अलावा योगी ने पहले भी ये साफ कर दिया था कि पिछली सरकार की कुछ ऐसी योजनाएं जैसे महिला हेल्पलाइन, डायल 100 जैसी सुविधाओं की अच्छे से समीक्षा होगी।

VIDEO: पीएम मोदी ने यूपी के सांसदों से कहा- "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कोई सिफारिश न करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग