December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा- राम मंदिर कैसे बनेगा जब राम भक्त ही नहीं रहेंगे, हिंदुओं को बढ़ानी होगी जनसंख्या

गिरिराज सिंह ने कहा, "बंटवारे के समय पाकिस्तान में 22 प्रतिशत हिंदू थे लेकिन आज वो एक प्रतिशत रह गए हैं।

बिहार के नवादा से बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में केंद्रीय राज्य मंत्री हैं।

अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर केंद्रीय राज्य मंत्री और बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने उत्तर प्रदेश (यूपी) के सहारनपुर जिले में एक बार फिर विवादित बयान दे दिया है। यहाँ एक सभा को संबोधित करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा, “देश की जनता राम मंदिर मांग रही है लेकिन राम मंदिर कैसे बनेगा जब देश में राम भक्त ही नहीं रहेंगे। हिंदू समाज को अपनी आबादी बढ़ाने की जरूरत है। देश के आठ राज्यों में हिंदुओं की जनसंख्या लगातार घट रही है।” सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह ने आगे कहा, “बंटवारे के समय पाकिस्तान में 22 प्रतिशत हिंदू थे लेकिन आज वो एक प्रतिशत रह गए हैं। जबकि उस समय भारत में 90 प्रतिशत हिंदू थे और 10 प्रतिशत मुस्लिम थे और अब मुसलमान 24 प्रतिशत हो गए हैं और हिंदू घटकर 76 प्रतिशत रह गए हैं।” हालांकि साल 2011 की जनगणना का अनुसार भारत की जनसंख्या 121 करोड़ से अधिक है। भारत की कुल आबादी में 79.80% हिंदू और 14.23% हैं।

वीडियो: शहीद जवान के परिवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से की ये मांग- 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोधियों को पाकिस्तान भेजने जैसे पुराने बयानों के अलावा समय-समय पर गिरिराज सिंह ऐसे बयान देते रहते हैं जिन पर बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व कुछ कहने से बचना लगता है। आइए आपको उनके पिछले कुछ महीनों में दिए विवादित बयानों के बारे में बताते हैं।

अक्टूबर के पहले हफ्ते में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आज कहा था कि भारत शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी था लेकिन लॉर्ड मैकाले की पाश्चात्य अवधारणाओं की वजह से पिछड़ गया और इससे देश की संस्कृति भी प्रभावित हुई। बिहार के नवादा से सांसद सिंह ने कहा कि अगर आजादी के बाद आयुर्वेद पर ध्यान दिया गया होता तो जड़ी बूटी वाले पौधों से हर तरह की दवाएं बनायी जा सकती थीं और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र कारोबार नहीं बनता। वह बिहार में पदस्थ आईएएस अधिकारी एसएम राजू के फॉर्मूले पर आधारित जड़ी-बूटियों की श्रृंखला को जारी करने के मौके पर बोल रहे थे।

Read Also: Video: नरेंद्र मोदी के मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा- हिंदू जैसा हिजड़ा कोई कौम नहीं

इसी महीने के पहले हफ्ते में गिरिराज सिंह ने कह दिया कि गोमांस खाने वालों में 10 में से 9 लोग आईआईटी के हैं। बिहार के नवादा से सांसद सिंह ने कहा था, ‘आज समाज में जो बच्चे गिर गए हैं, गौ मांस खा रहे हैं। पढ़े लिखे दस लोग जो गौ मांस खा रहे हैं, उनमें से नौ आईआईटी के हैं।”

अगस्त के पहले हफ्ते में गिरिराज सिंह का एक वीडियो कोबरापोस्ट डॉट कॉम पर साझा किया गया। वीडियो में गिरिराज सिंह कहते नजर आ रहे थे कि “हिंदू जैसा हिजड़ा तो कोई कौम ही नहीं है। हिंदू…होता तो पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाता पटना में, एक एक ढेला मारकर मार देते. कुछ लड़के हैं जिनके पास सेंटिमेंट है, अभी कुछ लोग जीवित हैं जिनके पास सेंटिमेंट है. देश में केवल 20 प्रतिशत लोग हैं जिनके पास सेंटिमेंट है. वो आगे कहते हैं कि अगले 20 सालों में हिंदुओं की और दुर्गति होगी।”

Read Also: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले, गौमांस खाने वाले 10 में से 9 IIT के हैं

अप्रैल में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी था लेकिन लॉर्ड मैकाले की पाश्चात्य अवधारणाओं की वजह से पिछड़ गया और इससे देश की संस्कृति भी प्रभावित हुई। बिहार के नवादा से सांसद सिंह ने कहा कि अगर आजादी के बाद आयुर्वेद पर ध्यान दिया गया होता तो जड़ी बूटी वाले पौधों से हर तरह की दवाएं बनायी जा सकती थीं और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र कारोबार नहीं बनता।

अप्रैल में ही सिंह ने कहा था कि हमारी बेटियां को सुरक्षित रखने के लिए हर धर्म में दो बच्चों की नीति को लागू किया जाना चाहिए। अगर हम हमारी जनसंख्या नीति को नहीं बदलेंगे को देश का विकास नहीं होगा। उन्होंने पूछा था कि जब मलेशिया और इंडोनेशिया में ऐसे कानून बन सकते हैं तो हमारे देश में क्यों नहीं?

Read Also: शहाबुद्दीन की जमानत पर भड़की BJP जाएगी कोर्ट, गिरिराज बोले-क्या नीतीश को नहीं मिला बड़ा वकील

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 10:25 am

सबरंग