ताज़ा खबर
 

और लाल हुआ टमाटर, 80 रुपए तक पहुंचे दाम

उत्तर भारत में ज्यादातर टमाटर हिमाचल प्रदेश से आता है, लेकिन बारिश की वजह से वहां से भी टमाटर की आवक कम हो गई है।
Author नई दिल्ली | July 2, 2017 04:11 am
महंगा हुआ टमाटर

उत्तर भारत में मानसून से पहले की बारिश से खराब हुई टमाटर की फसल के कारण राजधानी में टमाटर के दामों में लगातार इजाफा हो रहा है। खुदरा बाजार में टमाटर इन दिनों 80 रुपए प्रतिकिलो बिक रहा है, जबकि फुटकर बाजार में यही टमाटर करीब 20 दिन पहले 20-30 रुपए प्रतिकिलो बिक रहा था।  इस साल बंगलुरु, हिमाचल प्रदेश और गुजरात जैसे राज्यों में टमाटर की अच्छी-खासी खेती हुई थी, लेकिन 15 दिन पहले देश के ज्यादातर हिस्सों में मानसून पूर्व बारिश शुरू हो गई, जिससे खेतों में टमाटर की फसलें खराब होने लगीं। देश में टमाटर की सबसे ज्यादा खपत दक्षिण भारत में है। दक्षिण भारत में टमाटर के दाम बढ़े, तो उसकी देखादेखी उत्तर भारत में भी दाम बढ़ने शुरू हो गए हैं। जो टमाटर कुछ दिन पहले 20 रुपए प्रति किलो बिक रहा था, वह इन दिनों 80 रुपए पर पहुंच गया है। बंगलुरु में टमाटर की बची हुई खेप उत्तर भारत में बिक्री के लिए लाई जा रही है। उत्तर भारत में ज्यादातर टमाटर हिमाचल प्रदेश से आता है, लेकिन बारिश की वजह से वहां से भी टमाटर की आवक कम हो गई है।

हिमाचल के सोलन और राजगढ़ में टमाटर की अच्छी-खासी खेती होती है। दिल्ली की आजादपुर थोक मंडी के कई आढ़ती टमाटर की खरीदारी करने हिमाचल पहुंच गए हैं। वहीं से टमाटर की खेप वे दिल्ली पहुंचा रहे हैं। टमाटर की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के कारण दिल्ली सरकार भी चिंता में आ गई है। दिल्ली के खाद्य व आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने बाजार में टमाटर की कीमतों में लगातार वृद्धि के कारण को जानने के लिए खाद्य व आपूर्ति आयुक्त को तलब किया। उन्होंने खाद्य व संभरण विभाग को दिल्ली में विभिन्न खाद्य सामग्रियों की उपलब्धता व कीमतों पर निगरानी रखने पर सख्ती बरतने को कहा। मंत्री ने कहा कि विभाग में एक बाजार सतर्कता इकाई का भी गठन किया गया है। बैठक के दौरान मंत्री हुसैन ने टमाटर की कीमतों में अचानक बढ़ोतरी पर चिंता जताई और आयुक्त को आदेश दिया कि वे विभाग की इकाई को इस दिशा में फौरन कार्रवाई के निर्देश दें।

उन्होंने यह भी कहा कि विभाग बाजार व मंडियों में टमाटर की उपलब्धता और बढ़ी हुई कीमतों के कारणों को जानने के लिए दस्तों को रवाना करे। ये दस्ते टमाटर की जमाखोरी या कालाबाजारी से संबंधित प्रकरण के बारे में भी सूचना एकत्रित करें ताकि संबंधित विभाग ऐसे जमाखोरों व कालाबाजारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सके। मंत्री ने विभाग को साप्ताहिक अवकाश के दौरान भी बाजार से वांछित सूचना एकत्रित करने व कीमतों से संबंधित गतिविधियों पर पैनी नजर रखने को कहा, जिससे टमाटर व अन्य मौसमी सब्जियों और खाद्य पदार्थों की उचित दामों पर उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके। दिल्ली में एशिया की सबसे बड़ी सब्जी मंडी आजादपुर में जिस तरह से इन दिनों अनाज की लगातार आवक कम हो रही है, उसे देखते हुए लगता है कि जल्द ही राजधानी में टमाटर की कीमतें 100 रुपए के करीब पहुंच जाएंगी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग