ताज़ा खबर
 

महिला सुरक्षा के मुद्दो को लेकर जानिए क्या बोले अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा से जुड़े मुद्दों से राजनीति को दूर रखना चाहिए।
Author नई दिल्ली | May 31, 2017 13:04 pm
अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा से जुड़े मुद्दों से राजनीति को दूर रखना चाहिए। दिल्ली महिला आयोग के तत्वावधान में वैश्विक महिला मुद्दों से जुड़ी अमेरिकी गृह मंत्रालय के सचिवालय और गैर सरकारी संगठन शक्ति वाहिनी द्वारा ‘महिला सुरक्षा एवं सशक्तिकरण’ विषय पर आयोजित सम्मेलन में केजरीवाल ने यह बात कही। केजरीवाल ने कार्यक्रम के बाद ट्वीट किया, “डीसीडब्ल्यू के एक कार्यक्रम में बोलने का मौका मिला। मेरा मानना है कि महिला सुरक्षा से संबंधित मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।”

केजरीवाल ने कहा, “राजनीति करने वालों को यह नहीं भूलना चाहिए कि उनके परिवारों में भी महिलाएं हैं और अगर स्थिति खराब होती है तो वे भी प्रभावित होंगी।” केजरीवाल ने राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा एवं सशक्तिकरण की दिशा में डीसीडब्ल्यू के कार्यो की सराहना भी की।
इस कार्यक्रम में बिहार और छत्तीसगढ़ के महिला एवं बाल विकास मंत्रियों सहित अमेरिकी सरकार के वरिष्ठ प्रतिनिधि भी शामिल हुए। इनके अलावा 12 राज्यों के मंत्रियों एवं प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

केजरीवाल के अलावा डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल, दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल और अमेरिकी दूतावास के निदेशक (उत्तर भारत) जोनाथन केस्लर ने समारोह को संबोधित किया। वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुख्य सचिव को निर्देश दिया है कि वे दवा आपूर्तिकर्ताओं के बिल का भुगतान न किए जाने के कारण बताएं और इसके लिए एक तंत्र विकसित करें ताकि जिम्मेदार अधिकारियों के वेतन से कटौती कर ब्याज सहित भुगतान सुनिश्चित किया जाए। केजरीवाल ने मुख्य सचिव से बुधवार 11 बजे तक इस संबंध में जवाब मांगा है। दवा आपूर्तिकर्ताओं ने 26 मई को मुख्यमंत्री से शिकायत की थी कि उनके बिलों का भुगतान काफी समय से लंबित है।  केजरीवाल ने मुख्य सचिव एमएम कुट्टी को पत्र लिखकर दवा आपूर्तिकर्ताओं की शिकायत पर ये निर्देश दिए जारी किए।

मुख्य सचिव को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा है कि आपूर्तिकर्ताओं को भुगतान क्यों नहीं मिल रहा है? बुधवार सुबह 11 बजे तक लंबित भुगतानों की सूची मुझे भेजी जाए, साथ में कब से भुगतान नहीं हुआ है और न किए जाने का कारण भी बताया जाए? केजरीवाल ने पत्र में आगे निर्देश दिया है, एक ऐसी व्यवस्था विकसित की जाए, जिससे अगर दवा आपूर्ति के बाद भुगतान निर्धारित समय सीमा के अंदर नहीं किया जाता है तो ब्याज सहित भुगतान किया जाएगा और ब्याज की राशि उस विभाग के प्रमुख सहित अधिकारियों के वेतन से काटी जाएगी। मुख्य सचिव से अगले सोमवार तक भुगतान की इस योजना पर एक प्रस्ताव पेश करने को कहा गया है जिसमें इस बात का ब्योरा होगा कि कितने दिनंों का ब्याज चुकाना है, ब्याज की दर क्या होगी और किस-किस के वेतन से ब्याज काटा जाएगा। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, उत्तरदायित्व, सुशासन की कुंजी है। किसी न किसी को अयोग्यता या गलत काम का परिणाम झेलने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.