ताज़ा खबर
 

राजस्थान शिक्षा विभाग की नसीहत- फिट रहने के लिए महिलाओं को झाड़ू-पोंछा करना चाहिए

नवंबर के एडिशन में 'स्वस्थ रहने के सरल उपाय' शीर्षक के साथ एक लेख प्रकाशित किया गया है, जिसमें महिलाओं को इन तरीकों का पालन करके स्वस्थ रहने की सलाह दी गई है।
राजस्थान सरकार की शिविरा पत्रिका का नवंबर एडिशन (फोटो सोर्स- http://education.rajasthan.gov.in)

राजस्थान शिक्षा विभाग ने महिलाओं को फिट रहने के लिए ऐसी नसीहत दी है जिसे सुनकर हर कोई हैरान है। शिक्षा विभाग का कहना है कि अगर महिलाएं फिट रहना चाहती हैं तो उन्हें झाड़ू-पोंछा करना चाहिए, चक्की पीसना चाहिए। राज्य के शिक्षा विभाग की मासिक पत्रिका में ये सारी बातें कही गई हैं। इसमें महिलाओं को फिट रहने की सलाह देते हुए ऐसा कहा गया है। राजस्थान सरकार की ‘शिविरा’ पत्रिका मुख्य रूप से स्कूल टीचर्स पर फोकस करती है। इस मैगजीन में शिक्षा और व्यक्तित्व विकास से जुड़ी बातें प्रकाशित की जाती हैं। इसी क्रम में नवंबर के एडिशन में ‘स्वस्थ रहने के सरल उपाय’ शीर्षक के साथ एक लेख प्रकाशित किया गया है, जिसमें महिलाओं को इन तरीकों का पालन करके स्वस्थ रहने की सलाह दी गई है।

लेख में लिखा है, ‘स्वस्थ रहना है तो सुबह-सुबह टहलना जरूरी है। टहलने के अलावा दौड़ना, साइकिल चलाना, घुड़सवारी, तैरना या कोई भी खेलकूद, व्यायाम के अच्छे उपाय हैं। स्त्रियां चक्की पीसना, बिलौना बिलोनो, रस्सी कूदना, पानी भरना, झाड़ू पौंछा लगाना आदि घर के कामों में भी अच्छा व्यायाम कर सकती हैं। रोज थोड़े समय छोटे बच्चों के साथ खेलना, 10-15 मिनट खुलकर हंसना भी अच्छा व्यायाम होता है।’ इस लेख के तहत फिट रहने के लिए करीब 14 इंस्ट्रक्शन्स दिए गए हैं।

महिलाओं को घर के काम के जरिए फिट रहने की सलाह को लेकर अब लोग इसका काफी विरोध कर रहे हैं। लोग इसे ‘सेक्सिस्ट हेल्थ एडवाइज’ बता रहे हैं। हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज की राष्ट्रीय सचिव कविता श्रीवास्तव का कहना है, ‘शिक्षा विभाग इस तरह की बातें कहकर उस रूढ़िवादी सोच को मजबूती प्रदान कर रहा है, जिससे मुक्त होने के लिए शिक्षा को जरूरी माना जाता है।’

राजस्थान सरकार की ‘शिविरा’ पत्रिका (फोटो सोर्स- http://education.rajasthan.gov.in)

पहले प्वॉइंट में कहा गया, ‘सुबह जल्दी उठो और 3-4 मील रोज टहलो। संभव होतो शाम को भी थोड़ा टहलो। टहलते समय नाक से लंबी-लंबी सांसें लो तथा यह भावना करो कि टहलने से आप अपने स्वास्थ्य को संवार रहे हैं।’ इसके अलावा खाने को लेकर भी जरूरी बातें कही गई हैं। लेख में कहा गया है, ‘सुबह-सुबह टहलने के बाद भूख अच्छी लगती है। इस समय पौष्टिक पदार्थों का सेवन करें। अंकुरित अन्न भीगी मूंगफली, आंवला या इससे बना कोई पदार्थ, संतरा या मौसम्मी का रस अच्छे नाश्ते के अंग होते हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.