ताज़ा खबर
 

रोहित वेमुला के नाम पर वर्ग संघर्ष भड़का रही है कांग्रेस: गहलोत

सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने लोकसभा में कहा, ‘हैदराबाद की घटना को जानबूझकर जातिगत मोड़ दिया गया। वर्ग संघर्ष भड़काने की कोशिश की गई।’
लोकसभा में बोलते हुए केंद्रीय सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत। (PTI Photo)

नई दिल्ली, 2 मई। हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में दलित छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या का मामला सोमवार को फिर से लोकसभा में उठा। सरकार ने कांग्रेस पर इस मुद्दे को जानबूझकर जातिगत मोड़ देने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने वर्ग संघर्ष भड़काने की कोशिश की।

सरकार ने इसके साथ ही आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 2006 से 2014 के बीच यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान इसी विवि में 11 छात्रों ने आत्महत्या की थी। इनमें अनुसूचित जाति और जनजाति के तीन-तीन छात्र भी शामिल थे। सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने लोकसभा में 2016-17 के लिए अनुदानों की मांगों पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा, ‘हैदराबाद की घटना को जानबूझकर जातिगत मोड़ दिया गया। वर्ग संघर्ष भड़काने की कोशिश की गई।’

उन्होंने कहा, ‘यूपीए सरकार के कार्यकाल में अनुसूचित जाति-जनजाति के तीन-तीन छात्रों समेत 11 छात्रों ने 2006 से 2014 के बीच खुदकुशी की। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी उस समय हैदराबाद क्यों नहीं गए?’ गहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने देश को आजादी दिलाई लेकिन आज की कांग्रेस ने महात्मा गांधी के रास्ते पर चलना छोड़ दिया है। आज कांग्रेस में गांधी तो बहुत हैं। लेकिन गांधीजी (महात्मा गांधी) की कांग्रेस आज अप्रासंगिक हो गई है। उन्होंने कांग्रेसी सदस्यों के भारी विरोध के बीच कहा कि केवल जातिवाद को भड़काना देशहित में नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.