June 23, 2017

ताज़ा खबर
 

व्यंग्यकार रवि किरण को पुलिस ने लिया हिरासत में, आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू और उनकेे बेटे लोकेश का “अपमानजनक” कार्टून बनाने का आरोप

पुलिस ने विधान सभा अध्यक्ष की शिकायत पर थुल्लुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की। रवि किरण फेसबुक पेज "पोलिटिकल पंच" के संचालक है।

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चन्द्रबाबू नायडू। (File Photo)

आंध्र प्रदेश पुलिस ने मशहूर राजनीतिक व्यंग्यकार रवि किरण को राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे एवं आईटी मंत्री नारा लोकेश पर “अपमानजनक” कार्टून बनाने के लिए हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने विधान सभा अध्यक्ष की शिकायत पर थुल्लुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की। किरण फेसबुक पेज “पोलिटिकल पंच” के संचालक है। उन्हें पुलिस ने हैदराबाद से हिरासत में लिया गया है। किरण के फेसबुक पेज पर नायडू, लोकेश और तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) की आलोचना की जाती है।

सीएनएन-न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार पुलिस में दर्ज शिकायत में कहा गया है कि शिकायतकर्ता को व्हाट्सऐप पर आंध्र प्रदेश विधान परिषद भवन और नारा लोकेश और सीएम नायडू की दो “गंदी” तस्वीरें मिली हैं जिसमें “अपमानजनक” कैप्शन लिखा जिससे उच्च सदन की गरिमा और शालीनता को ठेस पहुंचती है। सीएनएन-न्यूज 18 के अनुसार पुलिस ने आईटी एक्ट के तहत ऐसी शिकायत दर्ज किए जाने की पुष्टि की है।

राज्य के विपक्षी दलों ने पुलिस की कार्रवाई की आलोचना की है। एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करके चंद्रबाबू नायूड से कहा है कि आलोचना स्वीकार करना लोकतंत्र के लिए बहुत जरूरी है। विपक्षी दलों ने किरण को तत्काल रिहा करने की मांग की है। चंद्रबाबू नायडू और लोकेश दोनों ही सार्जवनिक रूप से सोशल मीडिया पर सरकार की आलोचना के खिलाफ बोल चुके हैं। दोनों ही सोशल मीडिया पर लगाम लगाने की बात भी कह चुके हैं।

पिछले कुछ समय से पूरे देश में फेसबुक, ट्विटर या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट की गयी टिप्पणियों और तस्वीरों के आधार पर विवाद और पुलिस में शिकायत करने के मामले बढ़े हैं। हाल ही में ओडिशा के भद्रक में सांप्रदायिक हिंसा भड़कने के पीछे सोशल मीडिया को एक वजह बताया गया। वहीं गायक सोनू निगम के ट्विटर पर किए कमेंट को लेकर हुई बहस के बाद मध्य प्रदेश में दो युवकों पर चाकू से हमला कर दिया गया। बिहार के भागपुर जिले में जिलाधिकारी और एसपी ने सोशल मीडिया पर आपत्तिनजक सामग्री पर लगाम लगाने के लिए नियम बनाए हैं जिनके तहत किसी भी सोशल मीडिया ग्रुप में आपत्तिजनक पोस्ट के लिए ग्रुप एडमिन जिम्मेदार होंगे।

वीडियो: लोकल ट्रेन में RPF जवानों और गुंडों के बीच हुई हाथापाई; सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 21, 2017 3:59 pm

  1. No Comments.
सबरंग