January 16, 2017

ताज़ा खबर

 

13 साल की जैन लड़की की हुई मौत, धार्मिक अनुष्ठान के लिए रखा था 68 दिन का उपवास

हैदराबाद में 13 साल की एक लड़की की मौत हो गई। वह जैन धर्म की थी और किसी जैन अनुष्ठान के चलते पिछले 68 दिनों से उपवास पर थी।

अराधना ने इससे पहले 41 दिन का व्रत भी रखा था।

हैदराबाद में 13 साल की एक लड़की की मौत हो गई। वह जैन धर्म की थी और किसी जैन अनुष्ठान के चलते पिछले 68 दिनों से उपवास पर थी। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, अराधना नाम की उस लड़की ने ‘चौमासा’ नाम की पवित्र अवधि में व्रत रखा था। अराधना 8वीं क्लास में पढ़ती थी। उसे दो दिन पहले ही व्रत खत्म होने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। जहां दिल की धड़कन रुकने से उसकी मौत हो गई। खबर के मुताबिक, अराधना के अंतिम संस्कार में लगभग 600 लोग शामिल हुए थे। उस लड़की को लोगों ने ‘बाल तपस्वी’ नाम भी दे दिया। वहीं अंतिम संस्कार के कार्यक्रम को ‘शोभा यात्रा’ बताया गया था। अराधना के परिवार का जूलरी का बिजनेस है। उनकी सिकंदराबाद के बाजार दुकान है। कई लोगों ने यह सवाल भी उठाया कि परिवार ने अराधना की पढ़ाई छुड़वाकर उसे उपवास करने के लिए क्यों बैठाया।

जैन समुदाय के कुछ लोग भी इसके खिलाफ नजर आए। ऐसे लोगों का कहना है कि इतनी छोटी बच्ची से ऐसा व्रत नहीं करवाना चाहिए था। जैन धर्म से संबंध रखने वालीं लता जैन ने कहा, ‘इस गंभीर तपस्या को करने के लिए काफी प्रेक्टिस की जरूरत होती है। व्रत पूरा होने पर धार्मिक गुरुओं द्वारा सम्मान मिलता है। कई सारे तोहफों से लाद दिया जाता है। लेकिन इस मामले में लड़की नाबालिग थी। इसी को लेकर मेरा विरोध है। अगर यह मर्डर नहीं है तो सुसाइड है।’

खबर के मुताबिक अराधना ने इससे पहले 41 दिन का व्रत भी रखा था। अराधना के दादा मानिकचंद ने कहा, ‘अराधना के बारे में हमने किसी से छिपाया नहीं था। सब जानते थे कि वह व्रत कर रही है। लोग आकर उसके साथ सेल्फी लेते थे। हम लोगों की मर्जी से अराधना ने व्रत रखा था।’

वीडियो: Speed News

अराधना का व्रत पूरा होने पर अखबारों में कुछ विज्ञापन भी छपे थे। उनमें दिखाया गया था कि तेलंगाना के मिनिस्टर पद्म राव गौड़ भी व्रत पूरा होने पर रखे गए कार्यक्रम में पहुंचे थे। फिलहाल बच्चों के अधिकारों के लिए लड़ने वाले एक संगठन ने पुलिस में केस दर्ज करवाने की बात कही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 8, 2016 12:01 pm

सबरंग