December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

कावेरी जल विवाद: समूचे तमिलनाडु में किसानों का रेल रोको प्रदर्शन, द्रमुक-विपक्षी दलों का मिला साथ

सभी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया।

Author चेन्नई | October 17, 2016 12:03 pm
तमिलनाडु किसान संघ से जुड़े लोग रेल की पटरियों पर लेट कर केंद्र से कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) की स्थापना का अनुरोध कर रहे हैं। (ट्विटर फोटो)

तमिलनाडु में कावेरी मुद्दे पर किसानों के एक संघ की ओर से घोषित राज्यव्यापी रेल रोको प्रदर्शन में सोमवार (17 अक्टूबर) को द्रमुक सहित विपक्षी दल भी शामिल हुए और केंद्र से कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) की स्थापना का अनुरोध किया। चेन्नई और कावेरी के तटीय जिलों सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में हुए प्रदर्शनों में कई लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें द्रमुक के कोषाध्यक्ष एवं तमिलनाडु विधानसभा में विपक्ष के नेता एमके स्टालिन भी शामिल थे। स्टालिन ने यहां के पेरम्बूर में निकाली गई जुलूस का नेतृत्व किया, जबकि तंजावुर तथा कुड्डलोर में अन्य के साथ रेल रोको प्रदर्शन करने वालों में वाम दल एवं एमडीएमके भी शामिल हुए। सभी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया।

केंद्र से तत्काल सीएमबी के गठन का अनुरोध करते हुए किसानों के एक संघ ने सोमवार से दो दिवसीय रेल रोको प्रदर्शन का आह्वान किया था। राज्य में स्थिति के आकलन के लिए उच्चतम न्यायालय की ओर से गठित एक उच्च स्तरीय तकनीकी दल के कावेरी तटीय क्षेत्र का मुआयना खत्म करने के कुछ दिनों बाद यह प्रदर्शन हुआ। दल ने कर्नाटक में भी कावेरी तटीय क्षेत्रों का मुआयना किया और यह दल सोमवर को शीर्ष अदालत में अपनी रिपोर्ट जमा कराएगा। कर्नाटक से कावेरी के जल को छोड़े जाने की मांग वाली तमिलनाडु सरकार की याचिका पर सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने इस दल का गठन किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 17, 2016 12:03 pm

सबरंग