ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली के बाद हैदराबाद यूनिवर्सिटी में भी ABVP की हार, सभी सीटों पर जीत गए विपक्षी

चुनाव जीतने वालों में एएसजे के तीन दलित, दो मुस्लिम और एक आदिवासी उम्मीदवार हैं।
अलायंस फॉर सोशल जस्टिस दलित, आदिवासी, अल्पसंख्यक छात्रों के साथ-साथ लेफ्ट संगठनों का एक गठबंधन है।

भाजपा और आरएसएस की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) को हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र संघ चुनावों में भी हार का सामना करना पड़ा है। यहां सभी सीटों पर एबीवीपी हार गई है जबकि विपक्षी मोर्चा अलायंस फॉर सोशल जस्टिस (एएसजे) को सभी सीटों पर जीत मिली है। इससे पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनावों से भी एबीवीपी को दो सीटों पर हार का सामना करना पड़ा था। वहां कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर जीत मिली थी।

हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव शुक्रवार (22 सितंबर) को हुए थे और देर रात उसके नतीजे आए। चुनाव जीतने वालों में एएसजे के तीन दलित, दो मुस्लिम और एक आदिवासी उम्मीदवार हैं। अलायंस फॉर सोशल जस्टिस दलित, आदिवासी, अल्पसंख्यक छात्रों के साथ-साथ लेफ्ट संगठनों का एक गठबंधन है। हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में चुनाव उस वक्त हुए हैं जब साल भर पहले ही दलित छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी सुर्खियों में थी।

अलायंस फॉर सोशल जस्टिस के बैनर तले अंबेडकर स्टूडेन्ट्स यूनियन के श्रीराग पोइकदन हैदराबाद सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी छात्र संघ के नए अध्यक्ष चुने गए हैं। श्रीराग ने एबीवीपी केकरण पलसानिया को 170 वोटों से हराया। महासचिव पद पर स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के आरिफ अहमद की जीत हुई है। उन्होंने एबीवीपी के किरण कुमार को 409 वोटों से हराया जबकि मुस्लिम स्टूडेन्ट्स फेडरेशन के मुहम्मद आशिक ने संयुक्त सचिव पद पर एबीवीपी उम्मीदवार रानी को 281 वोटों से हराया है।

दलित छात्र संघ के प्रतिनिधि की जीत सांस्कृतिक और खेल सचिव पद पर भी हुई है। एक आदिवासी छात्र लुनावाथ नरेश की जीत छात्र संघ उपाध्यक्ष के पद पर हुई है। उसने एबीवीपी उम्मीदवार अपूर्वा को 261 वोटों से हराया। हालांकि, इस पद के चुनाव नतीजे अभी स्थगित रखे गए हैं क्योंकि विजेता के अटेंडेंस से संबंधित कुछ शक जताए गए थे। बता दें कि एएसजे गठबंधन में स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया, अंबेडकर स्टूडेन्ट्स असोसिएशन, दलित स्टूडेन्ट्स यूनियन, ट्राइवल स्टूडेन्ट्स फोरम, स्टूडेन्ट्स इस्लामिक ऑ्रगनाइजेशन, मुस्लिम स्टूडेन्ट्स फेडरेशन और तेलंगाना विद्यार्थी वेदिका शामिल थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. N
    naveen bhojani
    Sep 23, 2017 at 8:52 pm
    इलेक्शन कमीशन ऐ बी वि पि को हराने के लिए देश विरोधियों को जीता रहा है इलेक्शन कमीशन ख़तम कर देना चाइये नहीं तो हम पार्लियामेंट भी नहीं जीत सकें गे
    (1)(0)
    Reply
    1. S
      Syed Liyakhat Ali
      Sep 23, 2017 at 7:54 pm
      आरएसएस/ABVP फॉरगॉट तो डिवाइड rule
      (0)(1)
      Reply
      1. S
        sanghpriya wasnik
        Sep 23, 2017 at 4:22 pm
        राहत की बात है बदलाव हो रहा है २०१९ में भी सरकार चेंज होनी चाहिए
        (0)(1)
        Reply
        1. S
          Syed Liyakhat Ali
          Sep 23, 2017 at 7:56 pm
          Sahi
          (0)(0)
          Reply
        सबरंग