तमिलनाडु: प्लास्टिक पर बैन लगवाने के लिए युवक ने किया सुसाइड, कहा- 121 करोड़ लोगों के लिए दे रहा जान

मामला तब प्रकाश में आया जब बुधवार को उसके पिता ने किसी के फोन में एक वीडियो क्लिप देखी। वीडियो खुद जवाहर ने रिकॉर्ड किया था।

प्रतीकात्मक चित्र

तमिलनाडु के त्रिची में रहने वाले एक 23 वर्षीय युवक ने प्लास्टिक पर बैन लगावाने के लिए अपनी जान दे दी। वह पर्यावरण सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर था और कहता था कि पर्यावरण को बचाने के लिए वो कुछ भी कर सकता है, लेकिन लोग उसकी बात को मजाक में लेते थे। लोगों को पता नहीं था कि इसके लिए वह एक दिन सच में अपनी जान ही दे देगा। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सोमवार को के. जवाहर नाम के युवक ने तंजावुर की एक नहर में कूदकर जान दे दी।

उसके अंतिम संस्कार तक परिजनों को पता नहीं चला था कि आखिर उसने आत्महत्या क्यों की। लेकिन मामला तब प्रकाश में आया जब बुधवार को उसके पिता ने किसी के फोन में एक वीडियो क्लिप देखी। वीडियो खुद जवाहर ने रिकॉर्ड किया था, जिसमें जवाहर कह रहा कि वह इतना बड़ा कदम सिर्फ इसलिए उठा रहा है ताकि वो प्लास्टिक से होने वाले नुकसान को लेकर सोसाइटी को एक कड़ा संदेश दे सके।

वीडियो: कार्यकर्ता जाकिया सोमन ने कहा- हम अपने कुरान अधिकारों के लिए पूरा संघर्ष करेंगे

उसके पिता ने बताया, “दसवीं कक्षा तक पढ़े जवाहर को पर्यावरण से बेहद प्यार था। वह हमेशा प्लास्टिक और दूसरे तत्वों से हो रहे नुकसान को लेकर चिंतित रहता था। उसने लगातार लोगों को इस अपूर्णीय क्षति के बारे में अवगत कराने की कोशिश की।” जवाहर ने इस मुद्दे को उठाने के लिए कई विरोध प्रदर्शन किए। एक बार तो वह तंजावुर की कलेक्ट्रेट के आगे धरने पर ही बैठ गया था, ताकि वह प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकने पर लोगों का ध्यान आकर्षित कर सके।

Read Also: रामदेव लिखेंगे आत्मकथा, बताएंगे कैसे बने योग गुरु और कैसे जमाया पंतजलि का कारोबार

वीडियो क्लिप में ये कहा:

जवाहर ने वीडियो क्लिप में कहा, “मैं प्लास्टिक पर बैन लगवाने के लिए अपनी जान दे रहा हूं। 127 करोड़ लोगों के फायदे के लिए अपनी जान देने में कुछ भी गलत नहीं है। यह मेरा खुद का फैसला है। मैं चुप रहकर नहीं बैठ सकता था।”

Read Also: पंजाब: सर्वे के अनुसार कांग्रेस और आप में कांटे की टक्कर, बीजेपी-अकाली गठबंधन काफी पीछे

जवाहर को कई बार पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारियों ने ये सब छोड़कर अपने परिवार पर ध्यान देने की सलाह दी थी। सोमवार सुबह से ही जवाहर गायब था और प्राइवेट कॉलेज में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाले उसके पिता काफी परेशान हो उठे। वह दिनभर बेटे की तलाश करते रहे, तभी उन्हें किसी ने जानकारी दी कि नहर में कूदकर किसी युवक ने आत्महत्या की है। शव की तलाश की गई तब पता लगा कि वह जवाहर ही था। जवाहर का बुधवार को अंतिम संस्कार किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 10:13 am

सबरंग