ताज़ा खबर
 

स्टिंग में दावा- विश्वास मत से पहले तमिलनाडु में नकद, सोना देकर खरीदे गए थे विधायक

चैनल ने दावा किया है कि 18 फरवरी 2017 को तमिलनाडु विधान सभा में विश्वास प्रस्ताव में वोट हासिल करने के लिए पैसे का लेन-देन हुआ था।
तमिलनाडु विधानसभा में हंगामा करते विधायक। ( Photo Source: ANI)

निजी टीवी चैनलों द्वारा किए गए एक स्टिंग ऑपरेशन में दावा किया गया है कि तमिलनाडु के कई विधायकों को विश्वास मत के दौरान वोट देने के लिए नकदी और सोना मिला था। टाइम्स नाउ और मून टीवी के साझा स्टिंग ऑपरेशन मं खुफिया कैमर से विधायकों के बयान रिकॉर्ड किए जाने का दावा किया गया है। टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार ये स्टिंग ऑपरेशन अप्रैल में शुरू हुए और मई के बाद जून में जारी रहे। चैनल ने दावा किया है कि 18 फरवरी 2017 को तमिलनाडु विधान सभा में विश्वास प्रस्ताव में वोट हासिल करने के लिए पैसे का लेन-देन हुआ था। ई पलानीस्वामी ने 16 फरवरी को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। पलानीस्वामी ने ओ पन्नीरसेल्वम की जगह ली थी।

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके की महासचिव जे जयललिता की मृत्यु के बाद उनकी पार्टी दो धड़ों में बंट गई। जयललिता के बीमार रहने के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता ओ पन्नीरसेल्वम को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया गया था। बाद में जयललिता की सहयोगी शशिकला नटराजन के साथ उनके रिश्तों में दरार आ गई। शशिकला के पार्टी का महसचिव बनने के बाद उन्होंने ई पलानीस्वामी को मुख्यमंत्री बनवा दिया। स्टिंग में दावा किया गया है पलनीस्वामी को विश्वास मत में जीत दिलाने के लिए करीब 100 विधायकों को एक रिसॉर्ट में रखा गया था।

स्टिंग के अनुसार दो विधायकों मदुरई दक्षिण के विधायक सर्वनन और सुलुर के विधायक कनकराज ने खुफिया कैमरों के सामने स्वीकार किया कि उन्होंने विश्वासमत के दौरान वोट देने के लिए पैसा लिया था।  स्टिंग में दावा किया गया है कि विधायकों को धमकी भी दी गयी थी। स्टिंग में एक विधायक ने आरोप लगाया है कि विश्वास मत के दौरान वोट देने के लिए हर विधायक को दो-छह करोड़ रुपये दिए गए। विधायक ने दावा किया कि कुछ लोगों को नकदी की कमी के कारण सोना दिया गया। डीएमके नेता एमके स्टालिन ने विश्वास प्रस्ताव में गड़बड़ी को लेकर शिकायत भी की है।

वीडियो- इंदौर के ट्रैफिक पुलिसवाले का घूस लेने का ये तरीका हुआ सोशल मीडिया पर वायरल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on June 13, 2017 9:48 am

  1. No Comments.
सबरंग