ताज़ा खबर
 

रेड के बाद हटाए गए तमिलनाडु के पूर्व चीफ सेक्रेटरी बोले- बंदूक दिखाकर मेरे घर मेंं सर्च किया गया

तमिलनाडु के पूर्व मुख्‍य सचिव पी राम मोहन राव ने अपने घर पर इनकम टैक्‍स विभाग की रेड पर सवाल उठाए हैं।
तमिलनाडु के पूर्व मुख्‍य सचिव पी राम मोहन राव ने अपने घर पर इनकम टैक्‍स विभाग की रेड पर सवाल उठाए हैं।

तमिलनाडु के पूर्व मुख्‍य सचिव पी राम मोहन राव ने अपने घर पर इनकम टैक्‍स विभाग की रेड पर सवाल उठाए हैं। राव ने कहा कि उन्‍हें निशाना बनाया गया है और बंदूक की नोंक पर घर की तलाशी ली गई। उन्‍होंने जान पर खतरे की आशंका भी जताई। राव ने पत्रकारों को बताया, ”मैं घर में बंद था। यह मुख्‍य सचिव के दफ्तर पर असंवैधानिक हमला है। मैं अभी भी तमिलनाडु का मुख्‍य सचिव हूं। अगर मैडम (जयललिता) अभी जिंदा होती तो क्‍या तमिलनाडु में ऐसा होता? मुझे निशाना बनाया गया। मुझे डर है कि मेरी जान को खतरा है।” उन्‍होंने आगे कहा, ”सीआरपीएफ मेरे घर पर आई और उन्‍होंने मुझे सर्च वारंट दिखाया लेकिन नाम उसमें नहीं था। उनके पास मेरे नाम का सर्च वारंट नहीं था। उसमें मेरे बेटे का नाम था। राज्‍य सरकार कहां है? मुख्‍य सचिव के दफ्तर में घुसने का सीआरपीएफ या भारत सरकार को क्‍या काम?” केंद्र राज्‍य का सम्‍मान नहीं करता।”

राव ने ममता बनर्जी और राहुल गांधी का आभार भी जताया। इन दोनों नेताओं ने रेड पर सवाल उठाए थे। गौरतलब है कि राव के अन्‍ना नगर स्थित घर, उनके दफ्तर और अन्‍य कई जगहों पर पिछले सप्‍ताह दो दिन तक आईटी विभाग ने सर्च किया था। इस रेड में 30 लाख रुपये, 5 किलो सोना मिला था। उनके बेटे पर कारोबारी जे शेखर रेड्डी के साथ मनी लॉड्रिंग में शामिल होने का आरोप है। रेड्डी को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस रेड के एक दिन बाद उनकी जगह गिरिजा वैद्यनाथन को नियुक्‍त किया गया।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पी राम मोहन राव के घर पर आयकर विभाग के छापे की आलोचना करते हुए कहा था कि केंद्रीय एजेंसियों की ओर से की जाने वाली ऐसी ‘‘अनैतिक और बदले की कार्रवाई’’ शीर्ष लोकसेवक की साख को कम करती है। ममता ने एक बयान में कहा, ‘‘ऐसी बदले की भावना से भरी, अनैतिक और तकनीकी रूप से गलत कार्रवाई क्यों? क्या यह सिर्फ संघीय ढांचे में गड़बड़ पैदा करने के लिए है? वे अमित शाह और अन्य पर छापा क्यों नहीं मारते?’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग