March 24, 2017

ताज़ा खबर

 

जेएनयू छात्र मुत्थुकृष्णन को श्रद्धांजलि देने गए केंद्रीय मंत्री राधाकृष्णन पर फेंका गया जूता

केंद्रीय मंत्री राधाकृष्णन जेएनयू छात्र मुत्थुकृष्णन को श्रद्धांजलि देने गए थे।

केंद्रीय मंत्री पी राधाकृष्णन। ( File Photo)

चेन्नई में गुरुवार को केंद्रीय मंत्री राधाकृष्णन पर जूता फेंका गया है। केंद्रीय मंत्री राधाकृष्णन जेएनयू छात्र मुत्थुकृष्णन को श्रद्धांजलि देने गए थे।राधाकृष्णन मोदी सरकार में राज्य सड़क एवं परिवहन मंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। बता दें, जेएनयू छात्र मुत्थुकृष्णन ने सोमवार को दिल्ली में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी। मुत्थुकृष्णन तमिलनाडु के रहने वाले थे और वे एससी समुदाय से ताल्लुक रखता था। जेएनयू में  मुत्थुकृष्णन एमफिल कर रहे थे।

मुत्थुकृष्णन हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र भी रहा है। मुत्थुकृष्णन ने हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला के आत्महत्या करने के बाद उसे न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ता रहा। रोहित वेमुला से जुड़ी एक संस्था के साथ भी  मुत्थुकृष्णन जुड़ा हुआ था। इसके अलावा वह यूनिवर्सिटी में दलित छात्रों से संबंधित मुद्दें भी उठाता रहा है। मुत्थुकृष्णन ने फेसबुक पर अपनी आखिरी पोस्ट ‘समानता’ पर  लिखी थी। इसमें मुत्थुकृष्णन ने समानता के अधिकार का मुद्दा उठाया था।

मुत्थुकृष्णन ने आत्महत्या करने से पहले कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा। हालांकि, पुलिस मामले की जांच कर रही है। लेकिन अभी यह  मुत्थुकृष्णन की मौत की वजह का खुलासा नहीं हो पाया है। जेएनयू के एक दलित शोध छात्र की कथित खुदकुशी के मामले में दिल्ली पुलिस ने बुधवार को एक प्राथमिकी दर्ज की थी, जबकि एम्स ने पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट में इस बात से इनकार किया कि उसकी मौत के पीछे कोई साजिश है। जेएनयू सेंटर फॉर हिस्टोरिकल स्टडीज में एम. फिल के छात्र मुथु कृष्णन ने सोमवार को अपने दक्षिण कोरियाई दोस्त के मुनीरका स्थित घर की छत के फंखे से लटक कर कथित तौर पर खुदकुशी कर ली थी। कृष्णन के पिता ने मंगलवार को अपने बेटे की मौत के मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी।

दलित शोधार्थी का शव मंगलवार को पोस्ट मॉर्टम के लिए एम्स ले जाया गया था और अस्पताल ने पोस्ट मॉर्टम के लिए पांच डॉक्टरों का एक मेडिकल बोर्ड गठित कर दिया था । अस्पताल ने पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराने के निर्देश भी जारी किए थे। एम्स के मेडिकल बोर्ड, जिसमें अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के भी सदस्य थे, ने कहा कि कृष्णन की मौत दम घुटने से हुई और उनके शरीर पर चोट का भी कोई निशान नहीं पाया गया।

वीडियो- दिल्ली: JNU के छात्र ने आत्महत्या की, पंखे से लटकता मिला शव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 16, 2017 10:24 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग