December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

गाड़ी के बोनट में छिपा कर ले जाए जा रहे थे 500 और 1000 के नोट, इंजन में आग लगने से हुए खाक

पुलिस का कहना है कि हम इस मामले में जांच कर रहे हैं और गाड़ी के मालिक के बारे में जानकारी निकाल रहे हैं। गाड़ी के बोनट से बरामद हुए नोट पूरी तरह से जल चुके हैं।

दिशानिर्देश में कहा गया है कि आयकर विभाग देशभर में उन स्थानों पर इस योजना के बारे में जानकारी दे जहां इस तरह के लोग आते हैं, जिनके पास कालाधन हो सकता है।

नोटबंदी के बाद से देश के अलग-अलग हिस्सों में नोट ठिकाने लगाए जाने के मामले सामने आ रहे हैं। सोमवार को राजस्थान में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब कार में रखे हुए नोटों के आग लग गई। नोट एसयूवी के बोनट और इंजन के बीच में जो खाली जगह होती है, वहां छिपा कर ले जाए जा रहे थे। यह घटना रायगढ़-चुरू रोड की है। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि गाड़ी हरियाणा की तरफ से आ रही थी और चरु जा रही थी। लेकिन अचानक इंजन में आग लग गई और नोट जलने लगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस का कहना है कि हम इस मामले में जांच कर रहे हैं और गाड़ी के मालिक के बारे में जानकारी निकाल रहे हैं। गाड़ी के बोनट से बरामद हुए नोट पूरी तरह से जल चुके हैं। पुलिस को शक है कि नोट दूसरे राज्य से यहां लाए जा रहे थे। हमे शक है कि करेंसी को गैरकानूनी रूप से ले जाने का मामला है। बताया जा रहा है कि नोटों में आगे लगने के बाद गाड़ी में सवार लोग बाकी बैग में रखे रुपए को लेकर फरार हो गए।

गौरतलब है कि नोटबंदी के बाद पहले भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं। कोलकाता, मिर्जापुर और बरेली ने नोटों को ठिकाने लगाने का मामला सामने आया था। 13 नवंबर को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में 500 और 1000 रुपए के नोटों के दो बोरे डस्टबिन में पड़े मिले थे। पुलिस के मुताबिक नोटों को कूड़े में फेंकने से पहले उन्हें फाड़ा गया था। इससे पहले यूपी के मिर्जापुर में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था। यहां गंगा नदी में हजार के नोट पानी में बहते हुए पाए गए थे। गंगा नदी में तैरते हुए नोटों की कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है। स्थानीय लोगों ने नोट देखकर पुलिस को इसकी सूचना दी थी।

वहीं, यूपी के बरेली में 500 और 1000 रुपए के जले हुए नोट पाए गए थे। कथित तौर पर एक कंपनी के कर्मचारी बोरियों में भरकर नोटों को लाए और उसके बाद उन्हें जलाया गया। पुलिस अधिकारियों का कहना था कि प्रथम दृष्टया, करेंसी नोटों को पहले फाड़ा गया, नष्ट करने की कोशिश की गई और फिर आग लगा दी गई। वहीं एक अन्य घटना में मुंबई की एक कार में कथित तौर पर 600 करोड़ रुपए भरे मिले होने की जानकारी भी मिली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 22, 2016 8:15 pm

सबरंग