ताज़ा खबर
 

कश्मीर: नमाज के बाद सुरक्षाबलों पर पथराव, प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए छोड़े आंसू गैस के गोले

श्रीनगर, पुलवामा और सोपोर में भी सुरक्षाबलों के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया।
हाल के दिनों में सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी की घटनाओं में इजाफा देखने को मिला है।

कश्मीर में आज पत्थरबाजों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प हो गई। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक कश्मीर में नमाज के बाद जमकर पत्थरबाजी हुई। श्रीनगर, पुलवामा और सोपोर में भी सुरक्षाबलों के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनकारियों ने सीआरपीएफ और पुलिस कर्मियों पर पत्थर फेंके। स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

इससे पहले श्रीनगर के लाल चौक पर 17 अप्रैल को पुलिस और छात्रों के बीच झड़प हो गई थी, जिसमें एक सुरक्षाकर्मी घायल हो गया था। श्रीनगर के पुलवामा में छात्रों ने सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंके थे, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े थे। मामले की शुरुआत उस वक्त हुई थी, जब पिछले दिनों कुछ छात्रों को पकड़ने के लिए सेना एक डिग्री कॉलेज में पहुंची थी। इसी का छात्र विरोध कर रहे थे। आपको बता दें कि हाल के दिनों में सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी की घटनाओं में इजाफा देखने को मिला है।

इसके अगले दिन यानी 18 अप्रैल को प्रदर्शनकारी छात्रों की फिर से सुरक्षाबलों से झड़प हुई थी, जिसमें 60 से ज्यादा स्कूल और कॉलेज के छात्र-छात्राएं घायल हो गए थे, जिसके बाद जम्मू-कश्मीर सरकार ने प्राइमरी स्कूलों को छोड़कर मंगलवार को घाटी के सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया था। पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पेलेट गन, आंसू गैस और मिर्ची के गोले छोड़े थे। यूनिफॉर्म पहने इन छात्रों ने कुपवाड़ा से सोपोर और श्रीनगर से कुलगाम तक पुलवामा के गवर्नमेंट कॉलेज में पुलिस कार्रवाई का विरोध किया था, जिसमें 50 छात्र घायल हुए थे।

पुलवामा कार्रवाई के विरोध में श्रीनगर में एसपी कॉलेज और विमिन कॉलेज के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने आजादी और भारत विरोधी नारे लगाए थे और मुख्य एम ए रोड को बंद कर दिया था। इसके बाद प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले और पानी की बौछार करनी पड़ी थी।

वहीं सोपोर में भी सैकड़ों छात्र-छात्राएं आजादी और भारत विरोधी नारे लगाते हुए सड़कों पर आ गए थे। उन्होंने सीआरपीएफ कैंप पर पत्थर फेंके, जिसके बाद पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े। अधिकारियों ने बताया था कि इस झड़प में कई छात्र घायल हो गए थे। दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम के प्रदर्शन में 32 छात्र, जिसमें 3 लड़कियां शामिल थे, घायल हो गए थे। पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े थे। प्रदर्शकारी छात्र-छात्राओं ने उन पर पत्थर फेंके थे।

देखें संबंधित वीडियो ः

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.