December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

पाकिस्तान ने LoC के नज़दीक रातभर दागे मोर्टार, खाली कराए गए सीमाई गांव

सीमावर्ती इलाकों में भारी गोलीबारी और मोर्टार बम दागे जाने के कारण अंतरराष्ट्रीय सीमा के समीप हीरानगर और अन्य इलाकों में रह रहे 1000 से अधिक लोग दूसरे सुरक्षित स्थानों पर चले गए हैं।

Author जम्मू | October 22, 2016 17:34 pm
जम्मू से करीब 35 किलोमीटर दूर रणबीर सिंह पुरा के पास सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का एक जवान बाइनोकुलर की मदद से पाकिस्तान सीमा की ओर नज़र रखे हुए। (AP Photo/Channi Anand/24 Sep, 2016)

नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी तेज करते हुए पाकिस्तानी रेंजरों ने जम्मू जिले के आर एस पुरा सेक्टर में सीमा के निकटवर्ती इलाकों और चौकियों को निशाना बनाकर रात भर मोर्टार बम दागे और स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की। बीएसएफ महानिरीक्षक डी के उपाध्याय ने शनिवार (22 अक्टूबर) को कहा, ‘रात में आर एस पुरा क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास भारी गोलीबारी हुई और मोर्टार बम दागे गए।’ इससे पहले पाकिस्तानी रेंजरों ने शुक्रवार (21 अक्टूबर) को छह बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया था। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भारतीय सैनिकों की जवाबी गोलीबारी में सात पाकिस्तानी रेंजर मारे गए थे और तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए थे। महानिरीक्षक ने बताया कि नियंत्रण रेखा के पास करोतना खुर्द और अब्दुलियां इलाकों में गोलीबारी हुई। उन्होंने कहा, ‘हम लोगों ने अधिकारियों से लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है क्योंकि दोनों ओर से गोलीबारी और मोर्टार दागे जाने की घटनाओं में वृद्धि हुई है। हम लोग ये नहीं चाहते कि आम लोगों को परेशानी हो।’ अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी रेंजरों ने ऑब्जर्वेशन टावर पर तैनात जवान को निशाना बनाकर हमला किया लेकिन जवान ने वहां से कूदकर खुद को बचाया। इस क्रम में उसकी टांगों में चोट लग गयी। सीमावर्ती इलाकों में भारी गोलीबारी और मोर्टार बम दागे जाने के कारण अंतरराष्ट्रीय सीमा के समीप हीरानगर और अन्य इलाकों में रह रहे 1000 से अधिक लोग दूसरे सुरक्षित स्थानों पर चले गए हैं।

जम्मू के उपायुक्त सिमरनदीप सिंह ने कहा, ‘गोलीबारी के अलावा पाकिस्तानी रेंजरों ने रात के 11 बजे से आज (शनिवार, 22 अक्टूबर) तड़के तक सुचेतागढ़ सब-सेक्टर के बिदीपुर और कारोतना में रुक-रुक 60 और 81 एमएम के मोर्टार बम दागे।’ उन्होंने बताया कि गोलबारी और मोर्टार बम के कारण चार मवेशियों की मौत हो गयी। उपायुक्त ने कहा कि लोगों को दिन में भी घरों के भीतर रहने के लिए कहा गया है क्योंकि दिन में मोर्टार बम दागे जाने की आशंका है। उन्होंने कहा, ‘अधिकारियों को एहतियात के तौर पर संवेदनशील गांवों में सभी स्कूलों को बंद रखने के लिए कहा गया है।’ सिंह ने कहा कि इन सीमावर्ती इलाकों के 50-80 विद्यालयों को जिला प्रशासन की ओर से एहतियात के तौर पर बंद रखने का निर्देश दिया गया है। पाकिस्तानी सैनिकों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आर एस पुरा (जम्मू), हीरानगर (कठुआ), सांबा, परगवाल (जम्मू) सेक्टरों और नियंत्रण रेखा पर राजौरी और मेंढर (पुंछ) में हल्के हथियारों से गोलीबारी की और मोर्टार बम दागे, जिससे बीएसएफ का जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी ठिकानों को नष्ट करने के लिए भारत की तरफ से किए गए लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) के बाद से नियंत्रण रेखा पर अब तक 37 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 22, 2016 4:45 pm

सबरंग