December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

कश्‍मीर: घर लौटी 8 साल की वर्ल्‍ड बॉक्सिंग चैंपियन, सेना ने दी थी ट्रेनिंग, उठाया खर्च

कश्‍मीर घाटी में जारी तनाव के दरम्‍यान बांदीपुरा ही वह जिला है जहां सबसे ज्‍यादा स्‍कूल जलाए गए हैं।

तजमुल इस्‍लाम के साथ मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती। (Photo: PTI)

सालों से हिंसा की चपेट में रहे कश्‍मीर के बांदीपुरा में रविवार को जश्‍न का माहौल रहा। शूट-आउट, स्‍कूल जलाने और जनाजों के बीच पहली बार खुशी की कोई वजह मिली। सैकड़ों लोग सड़कों पर खुशी से झूम रहे थे। इसकी वजह थी 8 साल की तजमुल इस्‍लाम की वापसी, जिसे आर्मी ने ट्रेनिंग दी और पिछले सप्‍ताह इटली में सोना जीतकर वह वर्ल्‍ड सब-ज‍ूनियर बॉक्सिंग चैंपियन बन गई हैं। किक-बॉक्सिंग आसान खेल नहीं है, युद्धकला के इस खेल में बॉक्सिंग और किकिंग, दोनों जरूरी होती है। जरा सी चूक और आपकी हड्डी टूट जाने का खतरा होता है। तजमुल ने गुुरुवार को जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की। तजमुल ने कहा, ”मैं इटली जाने से पहले नर्वस थी लेकिन मेरे कोच ने उत्‍साह बढ़ाया। फिर मैंने कश्‍मीर और भारत की इमेज के बारे में सोचा और आखिरकार, कर दिखाया।” तजमुल ने इससे पहले 2015 में नई दिल्‍ली में हुई राष्‍ट्रीय किकबॉक्सिंग चैंपियनशिप की सब-जूनियर कैटेगरी में गोल्‍ड मेडल जीता था। बांदीपुरा में आर्मी द्वारा चलाए जा रहे सद्भावना स्‍कूल में कक्षा दो में पढ़ने वाले तजमुल को दो महीने तक नई दिल्‍ली में ट्रेनिंग दी गई थी। उनके पिता गुलाम मोहम्‍मद लोन एक निजी कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी में ड्राइवर हैं। वह कहते हैं, ”वह बेहद प्रतिभाशाली स्‍टूडेंट है और वजीफा पाती है।”

तजमुल ने सेना की खुलकर तारीफ की। टीओआई से बातचीत में उन्‍होंने कहा, ”मैं अपने माता-पिता, कोच- रावत सर, योगेश सर और दलाल सर की कर्जदार हूं। रावत सर ने मुझे इंटरनेशनल चैंपियनशिप के लिए तैयार करने में बहुत मेहनत की है। आर्मी ने मुझे बेहद सपोर्ट किया।” तजमुल ने माता-पिता के साथ अपना गांव तर्कपुर सितंबर में छोड़ा था ताकि वह चैंपियनशिप की तैयारी ले सकें। उसी समय घाटी के कई इलाकों में हिंसा भड़क गई थी, जो अब तक शांत नहीं हो सकी है।

कश्‍मीर घाटी में जारी तनाव के दरम्‍यान बांदीपुरा ही वह जिला है जहां सबसे ज्‍यादा स्‍कूल जलाए गए हैं। तजमुल के पिता ने कहा कि उन्‍होंने ट्रेनिंग के दौरान रहने व अन्‍य खर्चों पर करीब एक लाख रुपए खर्च किए, सेना ने पूरे परिवार के एयर ट्रेवल का खर्च वहन किया। गुरुवार को सेना ने तजमुल का सम्‍मान किया।

तजमुल को सीएम महबूबा मुफ्ती की तरफ से एक लाख रुपए व गवर्नर एनएन वोहरा की तरफ से 50,000 रुपए का नकद पुरस्‍कार भी मिला। तजमुल अब बिहार में होने वाले एक किकबॉक्सिंग प्रतियोगिता की तैयारी कर रही हैं। उनकी बहन भी इस प्रतियोगिता में हिस्‍सा ले रही हैं।

कश्‍मीर में हिंसा पर बोलीं महबूबा मुफ्ती, देखें वीडियो:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 21, 2016 8:48 am

सबरंग