December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

अमेठी: स्मृति ईरानी ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत एक लाख गैस कनेक्श्न की दी सौगात

अमेठी की जनता 1977 और 1998 में गांधी परिवार को वापस भेज दिया था।

Author अमेठी | October 23, 2016 05:28 am
केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी में राहुल गांधी के लिए मुसीबत बन गई हैं।

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी में राहुल गांधी के लिए मुसीबत बन गई हैं। ईरानी शनिवार को तीन केंद्रीय मंत्रियों के साथ अमेठी आर्इं। इस दौरान मंत्रियों ने राजीव गांधी पेट्रोलियम संस्थान का उद्घाटन करके अमेठी की एक लाख महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में एलपीजी गैस की सैगात दिया। जिससे अमेठी की गरीब महिलाओं के चेहरे खिल गए हैं। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अमेठी हिंदुस्तान का सबसे गरीब शहर है। जबकि कांग्रेस अमेठी में सत्तर सालों से कब्जा जमाए बैठी है। लेकिन भारत में सबसे ज्यादा गरीब अमेठी में हैं।

जावड़ेकर ने कहा कि अमेठी-रायबरेली में सत्तर साल से कांग्रेस है। लेकिन यहां का गरीब आज भी खुले आसमान के नीचे रहता है। अमेठी की जनता 1977 और 1998 में गांधी परिवार को वापस भेज दिया था। मगर इसके बाद अमेठी की जनता को सही विकल्प नहीं मिला। जिससे कांग्रेस यहां जमी थी, पर अब अमेठी को स्मृति ईरानी मिल चुकी हैं। इसलिए राहुल गांधी को अब 1977 की याद आने लगी है। उन्हें सलाह है कि वे 2019 के लिए अपना क्षेत्र बदल लें। वरना उनकी हार तय है। यहां के सांसद कैप्टन सतीश शर्मा केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री थे। लेकिन अमेठी के दस फीसद घरों को भी गैस कनेक्शन नहीं दिया था। जबकि मोदी सरकार छह महीने में यहां के एक लाख घरों को निशुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन मुहैया करा दिया है।

Video: राहुल गांधी पर विवादास्पद टिप्पणी करने वाले कांग्रेस नेता को पार्टी से बाहर का रास्त दिखा दिया गया ।

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि अमेठी के राजीव गांधी पेट्रोलियम संस्थान का उद्घाटन करके मोदी सरकार ने राहुल गांधी की अधूरी योजनाओं को पूरा किया है। इस संस्थान की बुनियाद आठ साल पहले पड़ी थी। लेकिन कांग्रेस के दौरान छह साल में मात्र 129 करोड़ का काम कराया गया था। पर मोदी सरकार आने के बाद सवा दो साल में 302 करोड़ रुपए का काम करा कर पेट्रोलियम संस्थान का उद्घाटन कर दिया। प्रधान ने कहा कि चूल्हे के धुएं से हर साल पांच लाख महिलाओं की जान जाती है। इसलिए मोदी सरकार उत्तर प्रदेश में 31 लाख परिवारों को एलपीजी गैस कनेक्शन से जोड़ दिया है। बाकी तीन साल में पूरे हो जाएंगे। प्रधान ने कहा कि अमेठी की स्थापना 1967 में हुई थी। लेकिन मोदी सरकार आने के पहले तक अमेठी में केवल एक लाख घरों में गैस कनेक्शन था। जबकि यहां की आबादी 24 लाख है। अमेठी में 3 लाख 71 हजार गरीब परिवारों को एलपीजी गैस कनेक्शन से जोड़ना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 23, 2016 5:26 am

सबरंग