ताज़ा खबर
 

मुलायम से मिलने के बाद बदले शिवपाल के सुर, बांधे CM अखिलेश की तारीफों के पुल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए सपा नेता शिवपाल सिंह ने कहा कि चुनाव पूर्व मोदी ने देशवासियों से वादा किया था कि काला धन वापस लाने पर हर देशवासी को 15-15 लाख रुपए मिलेंगे।
Author इटावा | August 17, 2016 05:11 am
समाजवादी पार्टी के नेता शिवपाल यादव। (फाइल फोटो)

अखिलेश सरकार के अफसरों और सपा नेताओं से आजिज आकर इस्तीफे की धमकी दे चुके शिवपाल सिंह यादव के सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव से मुलाकात के बाद सुर बदल गए हैं। कल तक बेहद तल्खी दिखा रहे शिवपाल सिंह यादव के तेवर मंगलवार को बेहद नरम नजर आए। उन्होंने अपने भतीजे और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तारीफ करते हुए सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का बखान किया।

शिवपाल सिंह ने नुमाइश पंडाल में कन्या विद्याधन योजना 2016 के तहत प्रोत्साहन धनराशि वितरण समारोह में जनपद की 609 मेधावी छात्राओं को 30-30 हजार रुपए के चेक वितरित करते हुए कहा कि सरकार ‘पढे बेटियां बढे बेटियां’ को साकार करते हुए यह धनराशि उपलब्ध करा रही है। जिससे छात्राएं आगे की अपनी और पढ़ाई कर देश को अपने अलग-अलग क्षेत्रों में सेवाएं देकर आगे बढ़ाने में सफल हों। यादव ने कहा कि आज बेटियां देश-प्रदेश के हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं, जो इस देश का भविष्य हैं। दो दिन पहले दिए अपने बयान के बाद आज शिवपाल सिंह के तेवर काफी नरम और बदले हुए नज़र आए। एक तरफ जहां उन्होंने मुख्यमंत्री और उनके काम की तारीफ की, वहीं नेताजी के निर्देश को आदेश मान कर काम करने की बात कही।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए सपा नेता शिवपाल सिंह ने कहा कि चुनाव पूर्व मोदी ने देशवासियों से वादा किया था कि काला धन वापस लाने पर हर देशवासी को 15-15 लाख रुपए मिलेंगे, लेकिन किसी के भी खाते में एक भी रुपया नहीं आया। जबकि मोदी ने पूरे देश में खाते तो खुलवा दिए उसमें पेंशन के माध्यम से पैसे देने का काम अखिलेश सरकार ने किया। बिना किसी भेदभाव के सभी को लैपटाप भी इसी सरकार ने दिया। साथ ही साथ बेरोजगारी भत्ता भी दिया। यहां कई ऐसी योजनाएं हैं, जिनसे आम जन को लाभ हो रहा है
शिवपाल सिंह ने कहा कि उनका किसी से भी कोई मतभेद नहीं। उन्होंने कहा कि इस्तीफा देने की बात को लेकर उनकी सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव से बात हो चुकी है। अब जो भी निर्णय करना है, वह सपा प्रमुख करेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। इतना कि किसी सरकार और किसी भी मुख्यमंत्री ने नहीं किया।

उन्होंने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री से भी बात कर ली है। हमने नेता जी से भी बात कर ली है। इस सवाल पर कि नेताजी ने कहा है कि शिवपाल के खिलाफ साजिश हो रही है, इस पर शिवपाल ने कहा कि नेताजी का इशारा हमारे लिए आदेश है और उन्होंने कहा है तो उनकी बात सब मानेंगे। जहां कमियां आ रही हैं, वहां हम एक महीने तक अभियान चलाएंगे। जिससे कही पर कोई कब्ज़ा न करे। कोई गड़बड़ी करे तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो।

कौमी एकता दल के सपा में विलय के सवाल पर शिवपाल सिंह ने कहा कि यह उनकी प्रतिष्ठा का कोई सवाल नही है। इस पर नेताजी को निर्णय करना है। छह अगस्त को पहली बार अखिलेश सरकार के अफसरों के खिलाफ और साथ ही भूमाफिया सपाइयों, शराब तस्करों और लक्जरी गाड़ियों वाले ठेकेदारों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए अपना इस्तीफा देने की धमकी दी थी। शिवपाल के इस बयान के बाद सपा में हड़कंप मच गया था, लेकिन जैसे ही पूरे मामले को सपा प्रमुख ने संज्ञान में लिया, शिवपाल अखिलेश सरकार का गुणगान करने में लग गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग