ताज़ा खबर
 

शशिकला ने AIADMK सदस्यों पर लगाया छेड़छाड़ की गई तस्वीरें इंटरनेट पर डालने का आरोप

अन्नाद्रमुक से निकाली जा चुकी सांसद शशिकला पुष्पा ने दिल्ली पुलिस का रूख कर आरोप लगाया है कि पार्टी के कुछ सदस्य उनकी छेड़छाड़ की गई तस्वीरें और अश्लील आलेख सोशल मीडिया पर फैला रहे हैं।
शशिकला नटराजन (ग्राफिक्स- मनाली घोष)

अन्नाद्रमुक से निकाली जा चुकी सांसद शशिकला पुष्पा ने दिल्ली पुलिस का रूख कर आरोप लगाया है कि पार्टी के कुछ सदस्य उनकी छेड़छाड़ की गई तस्वीरें और अश्लील आलेख सोशल मीडिया पर फैला रहे हैं। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मधुर वर्मा ने बताया कि अज्ञात लोगों के खिलाफ आर्थिक अपराध शाखा में प्राथमिकी दर्ज की गई है। साइबर प्रकोष्ठ इस विषय पर गौर कर रही है। शशिकला ने आरोप लगाया है कि इस हरकत के पीछे अन्नाद्रमुक के 15 लोग हैं। अधिकारी ने कहा कि छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए जालसाजी, आपराधिक भयादोहन और महिला को बदनाम करने के आरोपों पर मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने कहा कि वेबसाइटों को इस मामले में ब्योरा देने को कहा गया है। गौरतलब है कि शशिकला को पिछले साल अगस्त में अन्नाद्रमुक से निकाल दिया गया था।

बता दें कि बीते माह ही एक महार्तवपूर्ण राजनीतिक घटनाक्रम में तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी AIADMK के दोनों धड़े एकजुट हो गए हैं। मंगलवार की शाम दोनों धड़ों ने एक बैठक में एकमत होकर पार्टी महासचिव वी शशिकला और उनके भतीजे दिनाकरन को पार्टी से बाहर निकालने का फैसला किया। इस बैठक में पार्टी के 122 विधायक शामिल थे। बैठक में यह फैसला किया गया कि पार्टी का कामकाज देखने के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा। यह कमेटी ही पार्टी के सभी बड़े पैसले लेगी। तमिलनाडु सरकार में मंत्री डी जयकुमार ने मीडिया से कहा कि पार्टी ने एकमत होकर फैसला किया कि शशिकला और उनके परिवार के किसी भी सदस्य को पार्टी में नहीं रखा जाय। उन्होंने कहा कि पार्टी का कामकाज देखने के लिए एक हाई लेवल कमेटी बनाई गई है।

इससे पहले अन्नाद्रमुक के विरोधी धड़े के नेता ओ. पनीरसेल्वम के पार्टी प्रमुख वीके शशिकला के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए कहा था कि उनका ‘‘मूल सिद्धांत’’ है कि पार्टी या सरकार किसी एक परिवार के हाथों में नहीं रहेगी। इस साल फरवरी में विरोध करने के बाद शशिकला द्वारा पार्टी से बाहर निकाले गए पनीरसेल्वम दिवंगत जे. जयललिता की मौत की जांच कराने की मांग पर भी अटल थे।

गौरतलब है कि कल ही कई मंत्रियों ने चेन्नई में बैठक करके दोनों विरोधी धड़ोंं के बीच संभावित मेल-मिलाप पर चर्चा की थी। पूर्व मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम (ओपीएस) ने  दावा किया था कि जयललिता की मृत्यु के बाद पार्टी के कानूनों का उल्लंघन करते हुए शशिकला को अन्नाद्रमुक का महासचिव नियुक्त किया गया, जबकि उसका निर्वाचन होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 19, 2017 12:01 am

  1. No Comments.
सबरंग