December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

सोशल मीडिया के जरिए चलाए जा रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़

आॅनलाइन धन हस्तांतरण और सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर वेश्यावृत्ति का धंधा करने वाले एक रैकेट का भंडाफोड़ किया है और एक पॉश होटल से पुलिस ने एक महिला को मुक्त कराया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

आॅनलाइन धन हस्तांतरण और सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर वेश्यावृत्ति का धंधा करने वाले एक रैकेट का भंडाफोड़ किया है और एक पॉश होटल से पुलिस ने एक महिला को मुक्त कराया है। देह-व्यापार निरोधी दस्ते (एंटी वाइस स्कावड) की एक विशेष टीम ने हाल ही में युवती को मुक्त कराया है जिसे बाद में एक अदालत में पेश किया गया। पुलिस मोहन सिंह की तलाश कर रही है जिसने किसी दूसरे राज्य में रहने वाली महिला को कथित तौर पर वेश्यावृत्ति के लिए विवश किया। पुलिस की एक विज्ञप्ति में आज बताया गया है कि आरोपी व्यक्ति व्हाटस एप सहित सोशल मीडिया के जरिए ग्राहकों को लुभाता था।

बता दें कि इससे पहले कोलकाता  में वैश्यावृत्ति में किशोरियों के प्रवेश को रोकने की कोशिश के तहत यौन कर्मियों का एक संठगन देह व्यापार में शामिल होने वाली लड़कियों की उम्र का पता लगाने के लिए एक्स रे परीक्षण का इस्तेमाल एक उपकरण की तरह कर रहा है। यौन कर्मियों के संगठन दरबार महिला समन्वय समिति द्वारा देह व्यापार में ढकेली जा रही नाबालिग लड़कियों को रोकने के लिए समूचे पश्चिम बंगाल में एक्स रे का इस्तेमाल किया जा रहा है।
इस संगठन के 1.30 लाख सदस्य है। दरबार की वरिष्ठ अधिकारी महाश्वेता ने कहा, ‘‘ हम नहीं चाहते कि किशोरियां इस व्यापार में आए हैं। लेकिन दलाल और यहां तक कि गरीब परिवारों के अभिभावक लड़कियों को 18 वर्ष से ज्यादा का बताने की कोशिश करते हैं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 29, 2016 3:31 pm

सबरंग