ताज़ा खबर
 

वडोदरा और मुंबई से 60 करोड़ रुपए की नशीली दवाएं जब्त

मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की अमदाबाद क्षेत्रीय इकाई ने वडोदरा और मुंबई में अलग-अलग छापों में करीब 60 करोड़ रुपए की नशीली दवाएं जब्त कीं।
Author अमदाबाद | August 17, 2016 05:28 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की अमदाबाद क्षेत्रीय इकाई ने वडोदरा और मुंबई में अलग-अलग छापों में करीब 60 करोड़ रुपए की नशीली दवाएं जब्त कीं। एनसीबी निदेशक (अमदाबाद) हरिओम गांधी ने मंगलवार को बताया कि पिछले हफ्ते वडोदरा में डॉल्फिन फार्मा और मुंबई के अंधेरी स्थित केसी फार्मा के परिसरों पर छापेमारी की गई। गांधी ने बताया कि हमारी टीम ने पहले नौ अगस्त को वडोदरा में डॉल्फिन फार्मा के कार्यालय और आवासीय परिसरों पर छापा मारा। हमने विभिन्न नशीली दवाओं की नौ लाख गोलियां बरामद कीं। इनकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 50 करोड़ रुपए है। हमने इन दवाओं को अवैध रूप से रखने के मामले में कंपनी के निदेशक अनिल लुहार और प्रबंधक जाहिद शेख को गिरफ्तार किया था।

अधिकारियों के अनुसार इन नशीली दवाओं में दर्द निवारक के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली आॅक्सीकोडोन, अनिंद्रा के उपचार के लिए इस्तेमाल की जाने वाली जोल्पीडेम और व्याकुलता के उपचार के लिए इस्तेमाल की जाने वाली अल्प्राजोलम शामिल हैं। कंपनी के पास इस तरह की दवाओं के विनिर्माण, भंडारण और बिक्री के लिए कोई लाइसेंस नहीं था। इन दवाओं का इस्तेमाल नशे की लत के लिए भी किया जाता है, इसलिए इन दवाओं का विनिर्माण, बिक्री और इन्हें रखने का नियमन नशीले व मादक पदार्थ अधिनियम के तहत किया जाता है।

अधिकारी ने कहा कि लुहार और शेख से पूछताछ में पता चला कि कंपनी ने कुछ पदार्थ मुंबई स्थित केसी फार्मा से अवैध रूप से खरीदे थे। इस सूचना के आधार पर हमने मुंबई एनसीबी के साथ अंधेरी में कंपनी के परिसरों पर छापेमारी की और 10 करोड़ रुपए की नशीली दवाएं और जब्त कीं। एनसीबी ने कंपनी के निदेशक किशन चौधरी और प्रबंधक मुरुगन को भी गिरफ्तार कर लिया। उन्हें आगे की पूछताछ के लिए वडोदारा लाया गया। दोनों अब लुहार और शेख के साथ सलाखों के पीछे हैं। गांधी ने कहा- अब हम यह जांच कर रहे हैं कि आरोपी किस तरह से काम करते थे। मादक पदार्थ डीलरों और भारत व विदेश में अन्य विनिर्माताओं के साथ उनके संपर्कों की भी जांच की जा रही है। इसमें जल्द ही कुछ और व्यक्तियों की गिरफ्तारी हो सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग