ताज़ा खबर
 

अब शराब पीकर काम पर आने वाले विमान इंजीनियर्स के खिलाफ कार्रवाई कर सकती DGCA

विमानन नियामक डीजीसीए भारतीय एयरलाइंस कंपनियों के सुरक्षा प्रमुखों को तलब करने की योजना बना रहा है।
Author नयी दिल्ली | October 12, 2016 10:05 am
(Shutterstock)

विमानन नियामक डीजीसीए भारतीय एयरलाइंस कंपनियों के सुरक्षा प्रमुखों को तलब करने की योजना बना रहा है। ऐसी रिपोर्ट है कि कुछ विमान रखरखाव इंजीनियर (एएमई) मदिरा-जांच कराये बिना ही टैक्सिंग (विमान को जमीन पर चलाने) का काम करते रहे हैं। इस रपट के बाद डीजीसीए ने एयरलाइनों के सुरक्षा संबंधी मामलों के प्रमुखों को तलब करने की योजना बनायी है। नागर विमानन निदेशालय के सूत्रों ने कहा, ‘‘यह दु:खद है कि लगभग सभी विमानन कंपनियां अनिवार्य नियमनों का उल्लंघन करते पायी गयी हैं।’’ उसने कहा कि नियामक कुछ एयरलाइंस के एएमई का लाइसेंस वापस लेने पर विचार कर सकती है।

एयरलाइनों के वरिष्ठ एएमई :इंजीनियरों: को हवाईअड्डों पर विमानको उनके परिचालन से अलग के समय में पायलटों की अनुपस्थिति में खासकर रात में जमीन पर चला कर एक जगह से जगह से दूसरी जगह ले जाने की अनुमति होती है। नियमों के तहत घरेलू एयरलांइस को ऐसे सभी इंजीनियरों के परीक्षण करने की आवश्यकता होती है कि उन्होंने शराब तो नहीं पी रखी है।
सूत्रों के अनुसार, ‘‘हाल की निगरानी के दौरान डीजीसीए ने पाया कि कुछ इंजीनियर विमानों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने का काम करने से पहले अनिवार्य अल्कोहल परीक्षण से नहीं गुजरे।

इसको देखते हुए डीजीसीए सभी एयरलाइंस से एक महीने का रिकार्ड मांगेगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि नियमों का अनुपालन किया गया या नहीं। सूत्रों के मुताबिक डीजीसीए सभी एयरलाइंस के सुरक्षा प्रमुखों को तलब करेगा ताकि उसने इस बारे में स्पष्टीकरण मांगा जा सके।’’ कुछ विमान इंजीनियरों को मिली मंजूरी को वापस लिया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग