ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश को दीमक की तरह चाए गए माया और मुलायम: साध्वी निरंजन ज्योति

भाजपा की परिवर्तन यात्रा का नेतृत्व करते हुए उन्होंने कहा, "माया-मुलायम ने पूरे प्रदेश को दीमक की तरह चाटा है। यहां के लोगों में भ्रम फैलाकर न सिर्फ उनका उत्पीड़न किया, बल्कि भ्रष्टाचार और गुंडाराज को बढ़ावा दिया।
साध्वी निरंजन ज्योति

भाजपा की परिवर्तन यात्रा का नेतृत्व करते हुए उन्होंने कहा, “माया-मुलायम ने पूरे प्रदेश को दीमक की तरह चाटा है। यहां के लोगों में भ्रम फैलाकर न सिर्फ उनका उत्पीड़न किया, बल्कि भ्रष्टाचार और गुंडाराज को बढ़ावा दिया। उन्होंने कहा, “पार्टी उत्तर प्रदेश में सत्ता के साथ-साथ व्यवस्था परिवर्तन की पक्षधर है और हमारी परिवर्तन यात्रा का यही उद्देश्य भी है।” उन्होंने कहा कि प्रदेश को विकास की पटरी पर वापस लाना है तो कमल खिलाना होगा।

नोटबंदी पर साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि प्रधानमंत्री के नोटबंदी के निर्णय से देश में भ्रष्टाचार व कालेधन पर करारी चोट हुई वहीं कश्मीर घाटी में आतंकवाद पर भी लगाम लगी है। उन्होंने कहा कि देश की जनता इस निर्णय के साथ है, लेकिन सपा, बसपा और कांग्रेस जैसे दलों में बौखलाहट है।

प्रदेश की कानून व्यवस्था पर निरंजन ज्योति ने कहा, “उत्तर प्रदेश में महिलाओं की आबरू सुरक्षित नहीं है। ऐसे-ऐसे कांड हुए, जिनकी गूंज पूरे देश में ही नहीं विदेशों तक पहुंची वो चाहे बुलंदशहर की घटना हो या सीतापुर की तमाम घटनाएं।

आपको बता दें कि इससे पहले इसी साल साध्वी निरंजन ने मथुरा के मामले के पीछे प्रदेश के लोक निर्माण विभाग एवं सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह का हाथ होने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उचित कार्रवाई किए जाने की मांग की है। रविवार (5 जून) सुबह मथुरा पहुंची खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्यमंत्री ने यहां सीधे-सीधे कहा कि जवाहर बाग पर कब्जा करने वालों को शिवपाल सिंह का पूरा संरक्षण प्राप्त था। इसीलिए ढाई साल बीत जाने पर भी जिला मुख्यालय पर सैकड़ों एकड़ की सरकारी संपत्ति पर कब्जा किए बैठे लोगों के खिलाफ प्रशासन को कड़ी कार्रवाई करने के लिए न तो अनुमति दी गई और न ही अपेक्षित पुलिस बल मुहैया कराया गया।

उन्होंने भी जवाहर बाग में घुसकर घटनास्थल का जायजा लेने का प्रयास किया। लेकिन उन्हें भी रोक दिया गया। एसएसपी राकेश सिंह ने बताया कि अभी सोमवार (6 जून) तक जवाहर बाग में किसी भी प्रकार के विस्फोटक, बारूद, बारूदी सुरंगें जैसे घातक हथियारों की खोज के लिए सर्च ऑपरेशन जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि अतिक्रमणकारियों के खिलाफ सदर थाने में कुल 45 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं। जिनमें 3000 लोगों को आरोपी बनाया गया है व तकरीबन पौने चार सौ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.