ताज़ा खबर
 

प्रद्युम्न हत्याकांड: पिंटो परिवार जांच में पुलिस की नहीं कर रहा है मदद, जल्द हो सकते हैं अरेस्ट

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने पिंटो परिवार की गिरफ्तारी पर स्टे देने से मना कर दिया था।
प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी।

गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की हत्या के मामले में गुरुग्राम पुलिस ने रेयान के ग्रुप सीईओ रेयान पिंटो, उनके पिता और रेयान के चेयरमैन ऑगस्टीन पिंटो और स्कूल की प्रबंध निदेशक उनकी पत्नी ग्रेस पिंटो को पूछताछ के बुलाया था। पुलिस ने आरोप लगाया है कि पिंटो परिवार जांच में उनका सहयोग नहीं कर रहा है। इंडिया टुडे ने अपने सूत्रों के हवाले से एक रिपोर्ट में लिखा है कि पिंटो परिवार छुपा हुआ है। पुलिस इस मामले में पूछताछ के लिए एक टीम बनाकर उन्हें अरेस्ट करने लिए जगह-जगह छापे मारने की योजना बना रही है। बता दें, पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने पिंटो परिवार की गिरफ्तारी पर स्टे देने से मना कर दिया था। ऐसे में यह संभव है कि अगर पिंटो परिवार पूछताछ के लिए पुलिस के सामने पेश नहीं होते हैं तो उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। पिंटो परिवार ने पिछले सप्ताह हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका भी लगाई थी।

गौरतलब है कि गुरुग्राम के भोंडसी स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के टॉयलेट में दूसरी क्लास के बच्चे प्रद्युम्न की हत्या कर दी गई थी। प्रद्युम्न का स्कूल टॉयलेट में गला रेट दिया गया था। वह खून से लथपथ स्कूल टॉयलेट में ही मिला था। इसके बाद उसी दिन पुलिस ने एक स्कूल बस के कंडेक्टर को हिरासत में लिया था। जिसने स्वीकार किया था कि उसने बच्चे की हत्या की है। उसने बताया कि वह प्रद्युम्न का यौन शोषण करना चाहता था, लेकिन जब वह चिल्लाने लगा तो उसने उसका गला काट दिया। उसके बाद स्कूल के बाहर प्रद्युम्न के मात-पिता के साथ-साथ बाकी पेरेंट्स ने भी स्कूल के बाहर हंगामा किया। हंगामा कर रहे लोगों का कहना था कि कंडक्टर को फंसाया जा रहा है जबकि असल बात कुछ और ही है।

मामला ज्यादा बढ़ा तो हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सीबीआई जांच की मांग मान ली। सीएम ने प्रद्युम्न के परिजनों से मिलकर इस मामले में उन्हें न्याय दिलाने का वादा किया। साथ ही सीएम ने उस दिन घोषणा की कि हरियाणा सरकार इस स्कूल को टेकओवर करती है। अब रेयान स्कूल को हरियाणा सरकार चलाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग