December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

केरल: नोटबंदी के खिलाफ संघ नेता ने थामा CPM का हाथ, चार दशक पुराना नाता तोड़ा

राज्य में संघ परिवार से जुड़े एक बड़े कार्यकर्ता पी पद्मकुमार ने संघ से चार दशक पुराना नाता तोड़ लिया।

Author November 28, 2016 06:13 am
राष्ट्रीय स्वयंसेवर संघ के कार्यकर्ता दैनिक शिविर के दौरान। (Express file photo by Amit Mehra)

केरल में संघ परिवार और कम्यूनिस्टों के हिंसक संघर्ष किसी से छुपा नहीं है। पिछले दिनों हुई ऐसी ही हिंसक घटनाओं और नोटबंदी के फैसले की खिलाफत करते हुए राज्य में संघ परिवार से जुड़े एक बड़े कार्यकर्ता पी पद्मकुमार ने संघ से चार दशक पुराना नाता तोड़ लिया। पी पद्मकुमार संघ के संगठन हिंदू एक्या वेदी में बतौर सचिव काम कर रहे थे। रिपोर्ट्स के अनुसार ‘राजनैतिक हिंसा’ और  बीजेपी और संघ के ‘अमानवीय स्टैंड’ को लेकर उन्होंने मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी से जुड़ने का मन बना लिया। जिसके बाद रविवार को आखिरकार उन्होंने रविवार को पार्टी का दामन औपचारिक रूप से थाम लिया। मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी के जिला सचिव के साथ मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि,” बीजेपी और संघ के इस अमानवीय स्टैंड के चलते कितने परिवार अनाथ हो गए। संघ के राजनितिक हिंसा को लेकर अमानवीय रवैए और 1000 और 500 रुपए के नोट बंदी को फैसले के विरोध स्वरूप मैंने संघ परिवार से बाहर आने का निर्णय लिया।

केरल में संघ और कम्यूनिस्ट दलों में एक दूसरे के कार्यकर्ता तोड़ने का ये पहला मामला नहीं है। दोनों संगठनों तनातनी सालों से बनी से हुई है। पिछले दिनों कम्यूनिस्ट पार्टी के एक नेता संघ की तुलना आतंकी संगठन आईएस से कर दी थी। इसके अलावा नोटबंदी के फैसले के बाद लोगों और कोआॅपरेटिव सेक्टर के सामने आ रही दिक्कतों पर चर्चा के लिए बुलाए गए केरल विधानसभा के विशेष सत्र में एक प्रस्ताव पारित कर केंद्र से कोआॅपरेटिव को पुराने नोट बदलने और वाणिज्यिक बैकों की तरह जमा स्वीकार करने की अनुमति देने को कहा गया था। हालांकि सरकार ने इसे मानने से साफ मना भी कर दिया। सत्तारूढ़ माकपा नीत एलडीएफ और कांग्रेस नीत यूडीएफ विपक्ष ने प्रस्ताव पारित करने के लिए हाथ मिलाया और 1000 रूपये तथा 500 रूपये के नोट को बंद करने के केंद्र के फैसले पर हमला किया। इसके बारे में पार्टियों ने कहा कि आम आदमी को भारी दिक्कतें हो रही है और कोआपरेटिव सेक्टर का कामकाज ठप हो गया है ।

मनमोहन के हमले पर जेटली का पलटवार; बोले- ‘स्कैंडल वाली सरकार नोटबंदी को घोटाला बता रही है’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 28, 2016 6:09 am

सबरंग