December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

केरल: CPM नेता ने ISIS से की RSS की तुलना

संघ अपने हिंदुत्व के एजेंडे को बढ़ा रहा है वहीं इस्लामिक स्टेट की विचारधारा इस्लामिक चरमपंथ को हवा देना है।

दिल्ली में माकपा पोलित ब्यूरों की बैठक के दौरान सीताराम येचुरी और प्रकाश करात। (पीटीआई फाइल फोटो)

केरल में सत्ताधारी पार्टी मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी ने रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और इस्लामिक स्टेट पर राज्य में सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाया है। पार्टी का आरोप है कि दोनों संगठन राज्य में धार्मिक सांप्रदायिकता फैला रहे हैं। सीपीएम के राज्य सचिव कोदेएरी बालकृष्ण दोनों संगठनों से लोगों को सावधान रहने के सलाह दी है। उन्होंने कहा कि दोनों संगठन का एजेंडा राज्य में सांप्रदायिकता को बढ़ावा देना है।  उन्होंने कहा कि, ” संघ अपने हिंदुत्व के एजेंडे को बढ़ा रहा है वहीं इस्लामिक स्टेट की विचारधारा इस्लामिक चरमपंथ को हवा देना है। इन शक्तियों से लड़ने के लिए सीपीएम सभी धर्मनिरपेक्ष ताकतों को एक मंच पर लाएगा।” तीन दिन पहले हुई पार्टी मीटिंग के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि,”राज्य में पार्टी का बेस और मजबूत हुआ है। पार्टी में ज्यादा से ज्यादा युवा और महिलाओं का लाने की कोशिश की जा रही है।” इस समय राज्य में पार्टी कार्यकर्ताओं की संख्या 4.5 लाख के आस पास है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगले साल पार्टी मेंबरशिप को और बढ़ाया जाएगा।

केरल से इस्लामिक स्टेट में भर्ती होने गए कई लोगों की खबर कई बार इस साल सामने आईं हैं। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने जुलाई में विधानसभा को सूचित किया कि कुल मिलाकर 21 लोग राज्य से लापता हैं । विजयन ने विपक्षी नेता रमेश चेन्निथला द्वारा इस विषय को उठाए जाने के बाद मुख्यमंत्री ने इसके जवाब में बताया कि प्रारंभिक उपलब्ध जानकारी के अनुसार इन 21 युवकों में से 17 कासरगोड और चार पलक्कड़ से हैं। इसके अलावा नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने केरल से छह लोगों को भारत में आतंकवादी हमले की योजना बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया। और भारत, अफगानिस्तान और संयुक्त अरब अमीरात की खुफिया एजेंसियां अब्दुल्ला नाम के व्यक्ति की तलाश कर रही हैं। खुफिया एजेंसियों की माने तो अब्दुल्ला लोगों को बरगला कर इस्लामिक स्टेट से जोड़ने वाला मुख्य सूत्रधार है। सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार अब्दुल्ला अब अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में रहता है और वो इस्लामिक स्टेट में अहम पद पर कार्यरत है। राज्य सरकार पर आईएस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के दबाव है ऐसे में सरकार ने संघ से आईएस को जोड़ कर अपनी बात की।

शीतकालीन सत्र चौथा दिन: विपक्ष की मांग संसद में आकर बोलें प्रधानमंत्री मोदी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 22, 2016 6:22 am

सबरंग