December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी की वजह से केरल में ₹2000 करोड़ के टैक्स नुकसान की आशंका: सीएम पिनयारी विजयन

विजयन ने भाजपा नेताओं के आरोपों को बकवास करार दिया और कहा कि को-ऑपरेटिव बैंकों में अघोषित नकदी नहीं है।

Author तिरुवनंतपुरम | November 17, 2016 17:59 pm
केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन। (पीटीआई फाइल फोटो)

केरल में माकपा नीत एलडीएफ की सरकार ने गुरुवार (17 नवंबर) को कहा कि नोटबंदी के बाद नकदी की समस्या के कारण वाणिज्य और व्यवसाय में गिरावट आने से इस महीने दो हजार करोड़ रुपए के कर नुकसान की आशंका है। भाजपा के राज्य नेताओं के बयानों का जिक्र करते हुए सरकार ने यह भी कहा कि नोटबंदी के तहत राज्य में को-ऑपरेटिव सेक्टर को बर्बाद करने का ‘राजनीतिक षड्यंत्र’ चल रहा है। मुख्यमंत्री पिनयारी विजयन ने प्राइमरी सोसायटी और जिला को-ऑपरेटिव बैंकों को पुराने नोट बदलने की अनुमति नहीं देने के लिए केंद्र की आलोचना की और कहा कि सहकारी क्षेत्र को बर्बाद करने का ‘राजनीतिक षड्यंत्र’ चल रहा है। उन्होंने कहा, ‘राज्य भाजपा के नेताओं ने बार-बार बयान दिए कि राज्य में को-ऑपरेटिव सेक्टर काला धन के गोदाम हैं और इस परिप्रेक्ष्य में केंद्र का निर्णय देखा जाना चाहिए।’

विजयन ने भाजपा नेताओं के आरोपों को बकवास करार दिया और कहा कि को-ऑपरेटिव बैंकों में अघोषित नकदी नहीं है और ये राज्य विधानसभा में पारित कानून के मुताबिक काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘अगर को-ऑपरेटिव सेक्टर में काला धन है तो कानूनी जांच करने पर कोई प्रतिबंध नहीं है। सरकार को-ऑपरेटिव सेक्टर को बचाने के लिए प्रतिबद्ध है क्योंकि यह लोगों के लिए है और इसमें आम आदमी का धन लगा हुआ है।’ उन्होंने कहा कि को-ऑपरेटिव के सक्रिय कामकाज से राज्य संपूर्ण बैंकिंग के दर्जा को प्राप्त कर सकता है। विजयन ने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली से जब उनकी मुलाकात हुई थी तो उन्होंने सकारात्मक जवाब दिया था और राज्य में को-ऑपरेटिव सेक्टर की स्थिति से उन्हें अवगत कराया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 17, 2016 5:59 pm

सबरंग