March 25, 2017

ताज़ा खबर

 

सपा की कलह का कांग्रेस को होगा फायदा: शीला

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित ने कहा है कि मुलायम सिंह यादव के परिवार में बढ़ती कलह का खमियाजा समाजवादी पार्टी (सपा) को विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ सकता है।

Author नई दिल्ली | October 17, 2016 04:21 am

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित ने कहा है कि मुलायम सिंह यादव के परिवार में बढ़ती कलह का खमियाजा समाजवादी पार्टी (सपा) को विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि सपा के कई वरिष्ठ नेता कांग्रेस में शामिल होने के लिए पार्टी के संपर्क में हैं। दिल्ली की तीन बार रहीं मुख्यमंत्री शीला ने कहा कि सपा में दरार से कांग्रेस को फायदा होगा क्योंकि जो लोग उस पार्टी के घटनाक्रम से खुश नहीं हैं, उनके सामने कांग्रेस के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रभावी प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त शीला ने कहा कि सपा के कुछ विधायक और मध्य स्तर के नेता कांग्रेस के संपर्क में हैं। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि बहुत ऐसे लोग हैं, जो कांग्रेस में आना चाहते हैं क्योंकि वे भाजपा या बसपा में नहीं जा सकते। जब उनसे पूछा गया कि क्या समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता भी कांग्रेस के संपर्क में हैं, तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि वरिष्ठ के साथ-साथ मध्य स्तर और स्थानीय नेता भी इसमें शामिल हैं।


बकौल शीला जो लोग सपा की बन रही छवि से निराश हैं, वे निश्चित तौर पर विकल्प की तलाश में हैं। उनके लिए कांग्रेस ही एकमात्र विकल्प है। शीला ने दावा किया कि सपा के कई विधायक कांग्रेस के संपर्क में आने की कोशिश कर रहे हैं। उनमें से कई पहले से ही संपर्क में है। सार्वजनिक तौर वे अभी ऐसा नहीं कर रहे हैं। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल यादव और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बीच मतभेद के कारण सपा में मनमुटाव बढ़ा है। इन सबके बीच मुलायम ने शुक्रवार को अचानक कह दिया कि 2017 के चुनाव के बाद अगर सपा फिर से सरकार बनाने की स्थिति में होगी, वैसे में ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा की जाएगी। यह घोषणा अखिलेश के लिए झटका माना जा रहा है। उन्हें हाल ही में सपा के राज्य प्रमुख के पद से हटा दिया गया था। इस बाबत सवाल पर शीला ने कहा, ‘बिल्कुल (सपा में कलह) मदद मिलेगी। यह उनके लिए हानिकारक होगा क्योंकि वह पार्टी सत्ता में है। घोटालों और मतभेद से उनको मदद नहीं मिलेगी।’ चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारियों के बारे में वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि राज्य भर में पार्टी में बड़ा बदलाव आया है। इससे लोगों की उम्मीदें बहुत अधिक बढ़ गई हैं। इस सवाल पर कि क्या उन्हें ब्राह्मण होने के कारण मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार चुना गया, शीला बोलीं, ‘यह एक कारण हो सकता है लेकिन असली कारण दिल्ली में मेरा प्रदर्शन है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 17, 2016 3:07 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग