December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदीः बैकों, ATM पर कतारों में लगकर जान गवाने वालों को 10-10 लाख रुपए दे सरकारः रामगोपाल

सपा के रामगोपाल यादव ने कहा कि बैंकों के आगे कतार में आम लोग, गरीब लोग अपने ही खून पसीने से कमाया गया पैसा निकालने के लिए खड़े थे।

Author नई दिल्ली | November 30, 2016 13:52 pm
सपा नेता रामगोपाल यादव

संसद में पीएम मोदी की ओर से नोटबंदी को लेकर लोगों को समस्याओं को ध्यान में रखते हुए समाजवाादी पार्टी के रामगोपाल यादव ने कहा कि बैंकों के आगे कतार में आम लोग, गरीब लोग अपने ही खून पसीने से कमाया गया पैसा निकालने के लिए खड़े थे। उनमें से कुछ लोग अनपढ़ थे और उन्होंने दूसरों से अपने फार्म भरवाए। दूसरों ने उनके फार्म में अपने नाम डाल कर खुद रूपये ले लिये। यादव ने कहा के बैंकों के आगे कतारों में लग कर अपनी जान गंवानेवालों को सरकार की ओर से 10…10 लाख रूपये का मुआवजा दिया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार की ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि पहले दी जानी चाहिए थी और सदन में अन्य कामकाज बाद में किया जाना चाहिए था। कुरियन ने कहा कि उन्हें नियम 267 के तहत दो नोटिस मिले हैं। पहला नोटिस कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद का है जो नोटबंदी पर है। दूसरा नोटिस तृणमूल कांग्रेस के सुखेन्दु शेखर राय का है जो जम्मू कश्मीर में सात सैनिकों की शहादत से संबंधित है। उन्होंने कहा कि सरकार दोनों ही नोटिस पर चर्चा के लिए तैयार है।

इसी बीच कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और बसपा सदस्य सरकार के खिलाफ और प्रधानमंत्री को सदन में बुलाने की मांग करते हुए आसन के समक्ष आ कर नारे लगाने लगे। अन्य विपक्षी दलों के सदस्य अपने स्थानों पर खड़े रहे। भाजपा सदस्य अपने स्थानों से आगे आ कर नोटबंदी के मुद्दे पर अधूरी चर्चा को बहाल करने की मांग करते हुए नारे लगाने लगे। कुरियन ने सदस्यों से शांत रहने और अपने स्थानों पर लौट जाने का आग्रह किया। सदन में व्यवस्था न बनते देख उन्होंने 11 बज कर करीब 15 मिनट पर बैठक को दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 1:46 pm

सबरंग