ताज़ा खबर
 

रमन सिंह बोले- बजट गांव-गरीब-किसानों के हित में, कांग्रेस ने कहा- आम आदमी पर बोझ बढ़ा

रमन सिंह ने कहा कि भारत की विकास यात्रा में यह बजट एक महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक पड़ाव साबित होगा। इससे देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में और भी अधिक तेजी आएगी।
Author रायपुर | March 1, 2016 02:01 am
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सोमवार को पेश आम बजट का स्वागत किया और कहा कि यह बजट आम जनता का बजट है। वहीं राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने बजट को दिशाहीन बताया है। सरकारी सूत्रों ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री रमन सिंह ने केंद्र सरकार के 2016-17 के आम बजट का स्वागत करते हुए कहा है यह वास्तव में आम जनता का बजट है। बजट में आम जनता की सभी प्राथमिकताओं को शामिल किया गया है। यह गांव, गरीब और किसानों के कल्याण का बजट है। मुख्यमंत्री ने इस बजट को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के कुशल वित्तीय प्रबंधन और उनकी जनकल्याणकारी आर्थिक नीतियों का आइना बताया।

रमन सिंह ने कहा कि भारत की विकास यात्रा में यह बजट एक महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक पड़ाव साबित होगा। इससे देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में और भी अधिक तेजी आएगी। वहीं इस आम बजट के सभी प्रावधानों का लाभ छत्तीसगढ़ को भी मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र के आम बजट में सामाजिक क्षेत्र के विकास के लिए विभिन्न योजनाओं के साथ अधोसंरचना विकास पर विशेष बल दिया गया है। ग्रामीण विकास, खेती-किसानी, स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा, कौशल विकास और स्वास्थ्य सुविधाओं को विशेष प्राथमिकता दी गई है।

उन्होंने कहा कि किसानों, मजदूरों, अनुसूचित जातियों, जनजातियों, पिछड़े वर्गों और अल्पसंख्यक वर्गों के उत्थान को बजट में विशेष रूप से प्राथमिकता दी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की नई सरकार का यह दूसरा आम बजट भी अपने पहले बजट की तरह आम जनता के सपनों को साकार करने के लिए समर्पित है। यह देश के लिए एक विकासोन्मुख बजट है।

राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि आम बजट दिशाहीन है। इस बजट में आम आदमी पर बोझ बढ़ाया गया है। भाजपा के इस बजट में भी केवल दिखावटी बातों पर जोर है। मोदी सरकार के दूसरे बजट से भी स्पष्ट हो गया है कि भाजपा कहती कुछ है और करती कुछ और है। आम बजट में गरीबों का कोई ध्यान नहीं रखा गया है। आयकर छूट सीमा को यथावत रखना वेतनभोगियों और मध्यम वर्ग के लिए निराशाजनक है। भाजपा सरकार का बजट गरीब विरोधी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग