ताज़ा खबर
 

पिता का बोझ बांटने के ल‍िए दूध बेचने लगी बेटी, अपनी पढ़ाई का पैसा जुटाने के ल‍िए द‍िखाई बड़ी ह‍िम्‍मत

आठवीं पास करने के बाद नीतू के पिता ने उससे पढ़ाई बंद करने के लिए कह दिया था।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

राजस्थान में एक पिता के पास अपनी बेटी को आगे पढ़ाने के लिए पैसा नहीं था तो उसकी बेटी ने अपनी पढ़ाई के लिए खुद ही घर-घर जाकर दूध बेचना शुरु कर दिया। 19 वर्षीय नीतू शर्मा यह काम जब से कर रही हैं जब उन्होंने आठवीं कक्षा पास की थी। आठवीं पास करने के बाद नीतू के पिता ने उससे पढ़ाई बंद करने के लिए कह दिया था। नीतू के पिता बनवारी लाल शर्मा ने उससे कह दिया था कि हमारे पास तुम्हारी पढ़ाई के लिए पैसा नहीं है। नीतू आगे की पढ़ाई करने के बाद एक शिक्षिका बनना चाहती थी इसलिए उसने अपने पिता का बोझ कम करने के लिए  दूध बेचना शुरु कर दिया। नीतू की एक बड़ी बहन भी है जिसका नाम सुषमा है। दूध बेचने के काम में सुषमा ने भी नीतू का साथ दिया जो कि पैसे की कमी के कारण पहले ही स्कूल जाना छोड़ चुकी है।

नीतू रोज सुबह 4 बजे उठती है और फिर भंडोर खुर्द गांव के घरों से दूध इकट्ठा कर उसे भरतपुर सिटी में घर-घर बेचने के लिए जाती है। गांव से भरतपुर सिटी का सफर नीतू अपनी बहन सुषमा के साथ मोटरसाइकल पर तय करती है। सुषमा बाइक के पीछे बैठकर दूध के डिब्बों को संभालती है। दूध बेचने के बाद नीतू अपने एक रिश्तेदार के यहां मोटरसाइकल खड़ा कर, अपने कपड़े बदल कर राजस्थान स्टेट सर्टिफिकेट कोर्स से इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी की दो घंटे की क्लास के लिए चली जाती है। नीतू की क्लास 10 बजे से 12 तक चलती है। वहीं सुषमा अपने रिश्तेदारों के यहां रुककर नीतू के क्लास से वापस आने का इंतजार करती और फिर नीतू के वापस आने के बाद दोनों घर लौट जाती हैं। ॉ

दोनों बहन करीब एक बजे घर पहुंचती हैं और फिर घर पर थोड़ा देर काम और आराम करने के बाद दोनों फिर शाम को 5 बजे दूध बेचने के लिए निकल जाती हैं। पहले नीतू अपने कंधों पर दूध का डिब्बा रखकर 5 किलोमीटर का सफर तय कर दूध बेचने के लिए जाती थी। रोज नीतू दोनों समय 90 लीटर दूध बेचती है जिससे उसे सभी खर्चों के बाद 12 हजार रुपए महीने जाते हैं। सुषमा ने गांव में ही एक बरतन की दुकान खोल ली है और वहीं नीतू अब बीएम द्वितीय वर्ष की पढ़ाई कर रही है। हिन्दुस्तान टाइम्स के अनुसार सुषमा ने कहा कि ऐसा कोई भी काम नहीं है जिसे लड़कियां नहीं कर सकती।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग