ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: पति को छोड़ने के लिए पुलिसवाले ने महिला के सामने रखी रात गुजारने की शर्त, गिरफ्तार

महिला ने थानेदार पर आरोप लगाया कि उसके पति को गिरफ्तार करने के बाद थानेदार ने उससे संपर्क किया और 15 लाख की गाड़ी छोड़ने के लिए उससे कुछ रुपये मांगे।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

राजस्थान के जोधपुर में एक थानेदार ने खाकी को शर्मसार करते हुए रिश्वत के तौर पर महिला की आबरू से सौदा करना चाहा। लेकिन महिला ने उसकी शिकायत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) में कर दी। जिसके बाद एसीबी की टीम ने भ्रष्ट थानेदार को गिरफ्तार कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला के पति पंकज को थानेदार कमलदान चारण ने 3 जून को एक किलो अफीम के साथ पकड़ा था। थानेदार ने महिला को भरोसा दिलाया कि यदि वह उसके साथ एक रात बिताती है तो वो अफीम की मात्रा 200 ग्राम दिखा देगा और उसका पति रिहा हो जाएगा।

महिला ने थानेदार पर आरोप लगाया कि उसके पति को गिरफ्तार करने के बाद थानेदार ने उससे संपर्क किया और 15 लाख की गाड़ी छोड़ने के लिए उससे कुछ रुपये मांगे। महिला ने गाड़ी छुड़ाने के लिए थानेदार को रिश्वत के तौर पर 1 लाख रुपये नकद और एक लाख का चेक दिया। थानेदार ने कहा कि जब उसे नकद राशि मिल जाएगी तो वह उसे चेक वापस कर देगा। इस बीच थानेदार महिला को अश्लील मैसेज भेजने लगा। जब महिला बाकी बचे एक लाख का बंदोबस्त नहीं कर सकी तो थानाधिकारी ने उसे अपने साथ रात बिताने को कहा।

इसके बाद पीड़िता ने थानेदार की शिकायत एसीबी में कर दी। थानेदार ने मंगलवार रात महिला को फोन कर कहा कि आज वह पेट्रोलिंग पर है और वह आठ से बारह बजे तक का समय उसके साथ ही गुजारेगा। महिला ने तुंरत एसीबी को इसकी जानकरी दी। रात आठ बजे थानेदार महिला के घर गया। कुछ देर बाद ही एसीबी महिला के घर पहुंच गई और दरवाजा खोलते ही थानेदार को एक लाख रुपये और चेक के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। महिला का कहना था कि वह अपने पति को छुड़ाने के लिए पैसा तो दे सकती थी, लेकिन जब मामला आगे बढ़ गया तो अधिकारी को सबक सिखाने के लिए एसीबी में शिकायत की।

देखिए वीडियो - राजस्थान हाईकोर्ट का नया फरमान गाय को घोषित करो राष्ट्रीय पशु

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग