ताज़ा खबर
 

सास-बहू का झगड़ा इतना बढ़ा कि बुलानी पड़ी पंचायत, फैसला सुनकर उड़ गए पति के होश

पंचायत ने महिला का पक्ष लेते हुए उसके पति को सात दिनों तक पेड़ से बांधे रखने और रोजाना दो चांटे मारने की सजा सुना दी।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

राजस्थान के जैसलमेर में पंचायत ने एक व्यक्ति को ऐसी सजा सुनाई जो इस वक्त चर्चा का विषय बना हुआ है। जिले से पांच किलोमीटर दूर खींवसर गांव में पंचों ने एक व्यक्ति को सात दिनों तक कड़ी धूप में पेड़ से बांधे रखने और रोज दो चांटे मारने की सजा सुनाई। युवक की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने सास-बहु के झगड़े में अपनी मां का साथ दिया। झगड़े का मूल कारण ये था कि युवक अपनी मां को साथ रखना चाहता था, जबकि पत्नी सास के साथ नहीं रहना चाहती थी। इसी वजह से पति-पत्नी में झगड़ा इतना बढ़ा कि महिला ने पंचायत को बुला लिया।

पंचायत ने महिला का पक्ष लेते हुए उसके पति को सात दिनों तक पेड़ से बांधे रखने और रोजाना दो चांटे मारने की सजा सुना दी। पंचायत का यह तुगलकी फरमान जिले में आग की तरह फैला। जब मामला मीडिया में तूल पकड़ने लगा तो प्रशासन भी हरकत में आ गई। अंत में पुलिस को इस मामले में दखल देना पड़ा। पुलिस ने मंगलवार को युवक को छुड़ा लिया और उसे प्राथमिकी इलाज के लिए अस्पताल में भेज दिया। चार दिनों तक कड़ी धूप में पेड़ से बंधे रहने के कारण युवक की हालत काफी बिगड़ गई थी। हालांकि, मीडिया के दवाब के बाद अब स्थानीय पुलिस पंचायत के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कह रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक, यहां रहने वाले धन्नाराम और उसकी पत्नी गंगा के बीच बूढ़ी मां की सेवा को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था। धन्नाराम बुजुर्ग मां को साथ रखना चाहता था, जबकि पत्नी उन्हें साथ नहीं रखना चाहती थी। इसे लेकर दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होता रहता था। चार दिन पहले भी जब इसी बात पर दोनों में कहासुनी हुई तो पत्नी ने अपने पीहर बुड़किया, देचू के पंचों और कुछ स्थानीय पंचों को बुला लिया। पंचों ने धन्नाराम को सात दिन तक कड़ी धूप में बांधकर उसे रोजाना दो चांटे मारने का फरमान सुनाया। साथ ही पंचों ने कहा कि जब तक आदेश न दिया जाए तब तक कोई भी धन्नाराम को पेड़ से खोलेगा नहीं। वरना समाज से उसे बहिष्कृत कर दिया जाएगा।

इस बीच रोजाना धन्नाराम की मां उसे खाना खिलाती रही। वहीं आदेश के मुताबिक, धन्नाराम की पत्नी रोजाना अपने पति को दो चांटे मारती थी। पुलिस पूछताछ में महिला ने कहा कि धन्नाराम उसे अक्सर मारता-पिटता था, इसलिए उसने सबक सिखाने के लिए पंचों को बुला लाई थी।

देखिए वीडियो - पहलू खान की मौत के एक महीने बाद: मेव मुस्लिम पंचायत ने की गांव को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग