ताज़ा खबर
 

देश में धर्मनिरपेक्ष आधार पर दो बच्चे की एक नीति बने: प्रवीण तोगड़िया

तोगड़िया ने कहा कि यदि दो से ज्यादा बच्चे होने पर लोगों को बैंक का कर्ज, राशन, स्कूल, अस्पताल की सेवा के लिए वंचित कर दिया जाए तो जनसंख्या रोकने पर इसका प्रभाव पड़ेगा।
Author जयपुर | July 18, 2016 01:20 am
विश्‍व हिंदू परिषद के अंतरराष्‍ट्रीय कार्यकारी अध्‍यक्ष प्रवीण तोगड़िया। (फाइल फोटो)

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के नेता प्रवीण तोगड़िया ने देश के सतत आर्थिक विकास के लिए भारत सरकार से हर नागरिक के लिए धर्मनिरपेक्ष आधार पर दो बच्चे की एक नीति बनाने मांग की है। उन्होंने धार्मिक कारणों से देश के विभिन्न हिस्सों में हिन्दुओं के कथित पलायन पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि विहिप ने दश के ऐसे सभी गांवों का सर्वेक्षण करने का फैसला किया है जहां हिन्दुओं की स्थिति खराब है और वहां से लोग पलायन कर रहें है। विहिप के कार्यकारी अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष रविवार (17 जुलाई) को बजरंग दल द्वारा आयोजित हिन्दू जयघोष कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे।

तोगड़िया ने कहा कि सरकार को समान जनसंख्या के लिए एक कानून लाना चाहिए। यदि दो से ज्यादा बच्चे होने पर लोगों को बैंक का कर्ज, राशन, स्कूल, अस्पताल की सेवा के लिए वंचित कर दिया जाए तो जनसंख्या रोकने पर इसका प्रभाव पड़ेगा। यह आर्थिक विकास का एक धर्मनिरपेक्ष तरीका है। विहिप नेता ने कहा कि कर्फ्यू के बावजूद जिन लोगो ने पुलिस और सेना के जवानों पर पत्थरबाजी की है उनके खिलाफ सरकार को साहस दिखा कर देशद्रोह का मामला दर्ज करना चाहिए।

तोगड़िया ने कहा कि कर्फ्यू की अवधि में जो लोग घायल हुए और जिन्होंने अस्पताल के रिकॉर्ड के अनुसार उपचार करवाया उनकी पहचान कर उनके खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करना चाहिए। कर्फ्यू अवधि में भी ये लोग क्यों सडकों पर उतर आएं और सेना और पुलिस के जवानों पर पत्थरबाजी की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग