ताज़ा खबर
 

ओसामा बिन लादेन का बन रहा था आधार कार्ड, फॉर्म में अपलोड की गई ब्लर फोटो, एड्रेस में पाक का पता

ऑपरेटर ने लादेन का आधार कार्ड बनाने के लिए एड्रेस में पाकिस्तान के एबटाबाद का पता लिखा गया। बता दें यह वह जगह जहां लादेन अमेरिकी सील कमांडो द्वारा मार गिराया गया था।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर। (फाइल फोटो)

राजस्थान के भीलवाड़ा के मांडल इलाके में दुनिया के सबसे खूंखार आंतकियों में शुमार रहे और अलकायदा के पूर्व चीफ ओसामा बिन लादेन के नाम पर आधार कार्ड बनवाने की कोशिश हो रही थी। हालांकि यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने इस मामले को पकड़ लिया और लादेन का आधार बनाने की कोशिश करने वाले ऑपरेटर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पुलिस के मुताबिक सद्दाम मंसरी नाम का शख्स, जो कि आधार रजिस्ट्रेशन सेंटर चलाता है, कुछ दिन पहले लादेन के नाम से आधार कार्ड बनाने की कोशिश कर रहा था।

ऑपरेटर ने लादेन का आधार कार्ड बनाने के लिए एड्रेस में पाकिस्तान के एबटाबाद का पता लिखा गया। बता दें यह वह जगह जहां लादेन अमेरिकी सील कमांडो द्वारा मार गिराया गया था। यही नहीं उसने लादेन धुंधली (Blur) फोटो भी फॉर्म में लगाई। हालांकि उसने अंगूठे के निशान को अपलोड नहीं किया। इन जानकारियों को भरकर उसने फॉर्म को अपलोड किया। इस बात का खुलासा तब हुआ जब यह डेटा वेरिफिकेशन डिपार्टमेंट के पास गया। उन्होंने पाया कि इनरोलमेंट एप्लीकेशन फॉर्म में न तो अंगूठे के निशान और न ही आइरिस है। इसके बाद विभाग की ओर से इस बात की जानकारी राजस्थान के सूचना एंव प्रौद्योगिकी विभाग को दी गई।

यूजर आईडी के आधार पर मांडल पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया। इस मामले में पुलिस थाना अधिकारी हरीश सांखला का कहना है कि आरोपी के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है। आरोपी सद्दाम के खिलाफ आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत मामले दर्ज किए गए हैं। मांडल सर्किल के प्रोग्रामर संजय अलुदिया के बताया कि मंसूरी का दावा है कि वह बेकसूर है और किसी शख्स ने इनरोलमेंट डिटेल्स को अपलोड किया है। हालांकि जिस यूजर आईडी के लादेन के आधार कार्ड बनाने की कोशिश हो रही थी वह मंसूरी की है। साथ ही आवेदन भी उसी की देखरेख में भरा गया है। बता दें कि आधार कार्ड में गड़बड़ी को लेकर पहले भी कई बार मामले सामने आ चुके हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग