May 28, 2017

ताज़ा खबर

 

राजस्थान के छात्र ने गूगल के 80 लाख के पैकेज को ठुकराकर शुरू किया अपना स्टार्ट अप

अमित ने अपने एंट्रेंस एग्जाम में ओएमआर शीट को भरने में गलती कर दी थी और उनकी इसी गलती के चलते अमित का आईआईटी में सलेक्शन नहीं हो पाया था।

स्टार्टअप के लिए छोड़ी गूगल की नौकरी

राजस्थान के एक इंजीनियरिंग छात्र ने अपने स्टार्टअप के लिए गूगल द्वारा दिए जा रहे 80 लाख का पैकेज ठुकरा दिया। इस छात्र का नाम अमित स्वामी है। बताया जा रहा है कि अमित को अपनी बीटेक की पढ़ाई के दौरान ही गूगल में 80 लाख की जॉब मिल गई थी लेकिन अपने स्टार्टअप के लिए इस आॅफर को स्वीकार नहीं किया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमित का एक छोटी सी गलती की वजह से आईआईटी में चयन नहीं हो पाया था जिसके बाद उन्होंने राजस्थान के एक कॉलेज से बीटेक किया।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार अमित स्वामी ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार किया जिसके जरिए किसी भी छात्र की फोटो स्कैन करके क्लास में उसकी अटेंडेंस का पता लगाया जा सकेगा। यह प्रोजेक्ट जल्द ही गुजरात में शुरू किया जाएगा। इसी के साथ अमित ने घरों और शोरूम की सुरक्षा के लिए भी एक सॉफ्टवेर तैयार किया इस सॉफ्टवेर को लगाने का फायदा यह अगर कोई अनधिकृत रूप से घर या शोरूम में घुसेगा तो पहले से रजिस्टर्ड डिवाइस पर संदिग्ध व्यक्ति की फोटो समेत अलर्ट आ जाएगा।

अमित को खुद इस बात का अंदाजा नहीं रहा होगा कि एक दिन उसकी काबलियत देखकर गूगल जैसी कंपनियां उसे हायर करना चाहेंगी। गौरतबल है कि अमित ने अपने एंट्रेंस एग्जाम में ओएमआर शीट को भरने में गलती कर दी थी और उनकी इसी गलती के चलते अमित का आईआईटी में सलेक्शन नहीं हो पाया था। अमित ने फिजिक्स की जगह पर केमेस्ट्री के ओएमआर भर दिए थे जिसकी वजह से उसका रिजल्ट खराब हो गया।

इसके बाद अमित ने स्टेट एंट्रेंस का एग्जाम दिया। जिसके बाद अजमेर के सरकारी बीटेक कॉलेज से अमित ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। बीटेक की पढ़ाई के दौरान ही अमित को गूगल की कंपनी में जॉब आॅफर हुई। अमित स्वामी एक साधारण परिवार से ताल्लुक रखता है। उसके पिताजी सुरेश स्वामी सादुलपुर की अनाजमंडी में काम करते और उसकी माता सरला देवी गृहिणी है।

वीडियो:How Google Assistant Works In Hindi

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on January 2, 2017 3:25 pm

  1. No Comments.

सबरंग