April 30, 2017

ताज़ा खबर

 

प्रधानमंत्री से लेकर राष्ट्रपति तक हैं इस गांव के निवासी, कांग्रेस के बच्चे सोनिया-राहुल-प्रियंका

बूंदी जिले के ही नैनवा गांव में मौगिया और बंजारा समुदाय ने अपने बच्चों के नाम मोबाइल ब्रांड और एक्सेसरीज पर रखे हैं, जिनमें नोकिया, सिम कार्ड, चिप और सैसंग सबसे ज्यादा चर्चित हैं।

Author जयपुर। | April 19, 2017 17:19 pm
इस गांव में प्रधानमंत्री से लेकर राष्ट्रपति तक हैं रहते। (Representative Image)

राजस्थान के बूंदी जिले का रामनगर गांव इन दिनों अपनी एक खास वजह से चर्चा का विषय बना हुआ है। 500 लोगों की आबादी वाले गांव में लोगों के नाम बहुत अजीबो-गरीब हैं। इन नामों में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और राज्यपाल तक के नाम शामिल हैं। गांव में रहने वाले कंजर और मोंगिया समुदाय के लोग उन्हें इन्हीं नामों से पुकारते हैं। यहां लोग आपसी चर्चा में कहते हैं कि राष्ट्रपति भैंस चराने गया है तो प्रधानमंत्री गाय चराने गया है। वहीं यहां सैमसंग और एंड्रॉइड फोन को ठीक करने वाले व्यक्ति को डॉक्टर कहते हैं। गांव में ऊंचे पदों, दफ्तरों और मोबाइल ब्रांड के नाम पर किसी बच्चे का नाम रखा जाना कोई बड़ी बात नही है।

कलेक्टर का रुतबा देखकर रखा दिया पोते का नाम कलेक्टर-
गांव में पहुंचे कलेक्टर का रुतबा देखकर एक महिला इतनी प्रभावित हुई कि उसने अपने पोते का नाम ही कलेक्टर के नाम पर रखा दिया। इसमें सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात ये है महिला ने जिस बच्चे का नाम कलेक्टर रखा वो खुद आजतक स्कूल नहीं गया।

ये हैं गांव के कुछ खास नाम-
कलेक्टर, फालतू, मिठाई, फोटो बाई, नमकीन, हनुमान पुत्र, सैमसंग, नोकिया, प्रियंका गांधी, राहुल गांधी, सोनिया गांधी, जियोनी, सिम कार्ड, चिप मजिस्ट्रेड, हवलदार आईजी, एसपी और कलेक्टर इस गांव के खासे मशहूर नाम हैं।

गांव में कई लोग अवैध गतिविधियों से भी जुड़े हैं-
गांव के एक शिक्षक ने बताया, ‘गांव के कई लोग अवैध गतिविधियों से जुड़े हैं। जिनका थाने-कोर्ट में चक्कर लगता रहता है। यहां कई लोगों ने अफसरों के ओहदे से प्रभावित होकर खुद के बच्चों के मजिस्ट्रेड, एसपी, हवलदार और आईजी रखे हैं।’

पापा कांग्रेस ने रखे राहुल, सोनिया और प्रियंका जैसे नाम पर बच्चों के नाम-
गांव में कांग्रेस नाम के व्यक्ति ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से प्रभावित होकर बच्चों के नाम सोनिया, राहुल और प्रियंका रख दिए।

दादा को जमानत मिलने पर रख दिया पोते का नाम हाई कोर्ट-
यहां एक विक्लांग बच्चे का नाम हाईकोर्ट इसलिए रख दिया गया क्योंकि उसके जन्म के वक्त दादा को हाईकोर्ट से जमानत मिली थी।

नैनवा गांव में बच्चों के नाम मोबाइल पर-
बूंदी जिले के ही नैनवा गांव में मौगिया और बंजारा समुदाय ने अपने बच्चों के नाम मोबाइल ब्रांड और एक्सेसरीज पर रखे हैं, जिनमें नोकिया, सिम कार्ड, चिप और सैसंग सबसे ज्यादा चर्चित हैं।

लड़कियों और महिलाओं के नाम नमकीन और जलेबी-
जिले के ही अरनिया गांव में महिलाओं और लड़कियों के नाम भी अलग तरह से रखे गए हैं। इनमें जलेबी, मिठाई, फोटोबाई और नमकीन जैसे नाम खासे मशहूर हैं।

 

वीडियो: गांव के सरपंच ने स्थानीय महिला की बुरी तरह पिटाई की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 19, 2017 5:17 pm

  1. No Comments.

सबरंग