ताज़ा खबर
 

राजस्थान में हुआ दो सिर वाले बच्चे का जन्म, 32 घंटे बाद ही हो गई मौत

बच्चे का जन्म राजस्थान के अजमेर में हुआ। यहां 20 वर्षीय मां ने जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में सोमवार को इस बच्चे को जन्म दिया।
जन्म के समय बच्चे का वजन 2.5 किलोग्राम था, जो कि औसत है।

उत्तर भारत के राजस्थान में दो सिर वाले एक अनोखे बच्चे का जन्म हुआ। डॉक्टर्स के मुताबिक इस तरह के बच्चे का जन्म “चमत्कारिक” है, क्योंकि आमतौर पर दो सिर के साथ दो धड़ भी होते हैं, लेकिन इस बच्चे में ऐसा नहीं था। बच्चे का जन्म राजस्थान के अजमेर में हुआ। यहां 20 वर्षीय मां ने जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में सोमवार को इस बच्चे को जन्म दिया था। जन्म के समय बच्चे का वजन 2.5 किलोग्राम था, जो कि औसत है। लेकिन 32 घंटे बाद ही उसकी मौत हो गई।

कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर जयप्रकाश नारायण ने बताया कि इस अद्भुत बच्चे के जन्म की खबर सुनकर हर कोई उसकी एक झलक पाना चाहता था। डेली मेल के मुताबिक, डॉक्टर जयप्रकाश ने कहा, “सोमवार को दो सिर वाले इस बच्चे का जन्म हुआ था, जन्म के समय वह हेल्दी था। दंपती की यह पहली संतान थी, यही वजह थी कि उन्हें पूरी जानकारी नहीं थी और उन्होंने डॉक्टर की सलाह नहीं ली। जन्म से पहले और बाद में मां बिलकुल ठीक रही, हालांकि बच्चे को सांस लेने में दिक्कत थी।” डॉक्टर जयप्रकाश ने जांच की तो पाया कि बच्चे का दूसरा सिर अलग नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने कहा, “इस तरह के ऑपरेशन जुड़वां बच्चों में ही संभव हो सकते हैं। लेकिन इस बच्चे में सिर्फ सिर अलग-अलग थे, बाकि सभी अंग एक ही शरीर के थे। इस तरह के बच्चों को अलग करना असंभव है।”

वीडियो में देखिए, सरकारी जांच में 5 कोल्ड ड्रिंक्स के ब्रॉंड्स की प्लास्टिक बोतलों में पाए गए ज़हरीले तत्व

Read Also: Video: जब लैंडिग के वक्त टेढ़ा हो गया प्लेन, देखने वालों की भी थम गई सांसे

एहतियात के तौर पर इस बच्चे को इंटेंसिव केयर यूनिट में रखा गया था। लेकिन बच्चे की मां और 24 वर्षीय पिता ने बच्चे को घर ले जाने का फैसला किया। वह हॉस्पिटल स्टाफ की चेतावनी के बावजूद इसे घर ले गए। इस वजह से जन्म के 32 घंटे बाद ही इस अद्भुत बच्चे की मौत हो गई। अब बच्चे के माता-पिता समेत पूरा परिवार दुखी है। द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में पैदा होने वाले 100 में से 2 बच्चे जन्म से ही दोषपूर्ण होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग