ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: पंचायत ने लड़कियों के जीन्‍स पहनने और मोबाइल इस्‍तेमाल करने पर लगाई रोक, शराब पीने पर भी बैन

अगर कोई भी ग्रामीण गांव में शराब पीता हुआ पाया जाता है तो उसपर 1100 रुपए का बैन लगाया जाएगा।
जो भी व्यक्ति पंचायत के किसी भी सदस्य को शराब पीने वाले शख्स के बारे में जानकारी देगा उसे 500 रुपए का इनाम दिया जाएगा।

राजस्थान के एक गांव में पंचायत ने लड़कियों को तुगलकी फरमान सुनाते हुए जींस पहनने और मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने पर पाबंदी लगाई है। इसके साथ ही पंचायत ने यह फरमान सुनाया है कि गांव में कोई भी शराब नहीं पीएगा। यह मामला राज्य के ढोलपुर जिले का है। ईटीवी के अनुसार बल्दियापुर गांव की पंचायत ने लड़कियों के जींस पहनने और मोबाइल रखने पर इसलिए पाबंदी लगाई है क्योंकि इससे समाज की मान-मर्यादा को ठेस पहुंचती है। वैसे तो पंचायत की यह बैठक शराब में डूबे युवा और ग्रामीणों को इससे दूर रखने के लिए रखी गई थी लेकिन इसमें लड़कियों को लेकर भी फरमान सुना दिया।

पंचायत का कहना है कि मोबाइल रखने और जींस की तरह के कपड़े पहनने से बच्चे बिगड़ते हैं। यह पहनावा हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं है इसलिए लड़कियों पर जींस लगाया गया है। वहीं शराब की वजह से गांव में बर्बाद होते कई घरों को ध्यान में रखते हुए पंचायत ने शराब पर बैन लगा दिया। अगर कोई भी ग्रामीण गांव में शराब पीता हुआ पाया जाता है तो उसपर 1100 रुपए का बैन लगाया जाएगा। इसके अलावा जो भी व्यक्ति पंचायत के किसी भी सदस्य को शराब पीने वाले शख्स के बारे में जानकारी देगा उसे 500 रुपए का इनाम दिया जाएगा। गांव में अगर कोई भी विवाद होता है तो उसकी सूचना पुलिस में देने से पहले समस्या को पंचायत में उठाया जाएगा और ग्रामीणों को पंचायत का फैसला मानना होगा।

आपको बता दें कि इस प्रकार का मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भी देखने को मिला था। फतेहपुरी गांव की महापंचायत ने लड़कियों के जींस पहनने और मोबाइल रखने पर रोक लगा रखी है। इसके साथ ही पंचायत ने शराब पीने और जुआ खेलने वालों पर भी जुर्माना लगाने का फरमान सुनाया था। पंचायत में 200 लोग शामिल हुए थे और फैसला एकमत से लिया गया है। पंचायत के हिसाब से लड़कियों का मोबाइल फोन इस्तेमाल करना और जीन्स -टीशर्ट पहनना भारतीय परंपरा के खिलाफ है।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.