December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी के चलते बिकने से बची महिला, 20 लाख में भाई ने ही किया था सौदा

महिला के भाई ने एजेंट की साथ सौदा किया था कि 20 लाख रुपए कैश दिया जाएगा, लेकिन एजेंट नकदी का इंतजाम नहीं कर पाया।

चित्र का इस्‍तेमाल केवल प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद देशभर के लोग पैसे की किल्लत से प्रभावित हुए हैं। जहां एक धड़ा सरकार के इस फैसले के फायदे गिना रहा है, वहीं कई लोग इसके विरोध में भी हैं। लेकिन राजस्थान के अलवर में सरकार के इस फैसले का फायदा एक महिला को जरूर हुआ है। यह नोटबंदी का ही असर था कि वह बिकते-बिकते बच गई। दरअसल यहां रहने वाली 21 साल की एक महिला का भाई उसे नीलाम कर रहा था। महिला के भाई ने अपने चचेरे भाई के साथ मिलकर अपनी बहन का सौदा तस्करी करने वाले एक दलाल के साथ कर दिया था। डील हुई थी कि इसके बदले उन्हें 20 लाख रुपए कैश में दिए जाएंगे।

बुधवार को दलाल महिला के भाई को 20 लाख रुपए कैश देता, लेकिन नोटबंदी के चलते दलाल पैसा का बंदोबस्त नहीं कर पाया। एजेंट ने कैश के बदले चेक से पेमेंट करने का ऑफर दिया, जिससे दोनों में बहस शुरू हो गई। अलवर के एडिशनल एसपी पारस जैन ने बताया, “महिला के भाई और एजेंट के बीच हुई बहस से मौका पाकर महिला वहां से भाग निकली। वह भागकर थाने आ गई और पुलिस की मदद मांगी।” जैन ने बताया कि पीड़िता को महिला कॉन्स्टेबल के साथ महिला पुलिस स्टेशन भेजा गया और बयान दर्ज कर लिया गया।

अभी निकाल सकते हैं लिमिटेड कैश:

आपको बता दें कि नोटबंदी के फैसले के बाद बैंक और एटीएम से कैश निकालने की सीमा काफी कम कर दी गई है। एटीएम से जहां एक दिन में प्रतिकार्ड 2500 रुपए निकाल सकते हैं, वहीं बैंक खाते से एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकाल सकते हैं। हालांकि जिन घरों में शादी है उनके लिए यह लिमिट 2.5 लाख रुपए है। लेकिन उसके लिए कुछ शर्तें दी गई हैं।

बाकी ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

प्रेस से एटीएम तक: जानिए कैसे सफर करता है आपका पैसा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 10:38 am

सबरंग