December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

संसद की सुरक्षा से खिलवाड़ के दोषी पाए गए भगवत मान

जांच समिति ने एक दिन के लिए मान को संसद से बर्खास्त करने की सिफारिश की है।

Author नई दिल्ली | November 30, 2016 05:27 am
संगरूर से आप के सांसद भगवंत मान। (पीटीआई फाइल फोटो)

लोकसभा की एक जांच समिति ने संसद की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किए जाने के मामले में पंजाब के संगरूर से आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान को दोषी पाया है। मान ने संसद के अधिवेशन के दौरान फेसबुक पर संसद का लाइव वीडियो साझा किया था। जांच समिति ने एक दिन के लिए मान को संसद से बर्खास्त करने की सिफारिश की है। इस मामले की जांच के लिए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने नौ सदस्यीय जांच समिति का गठन किया था। जांच में समिति ने माना है कि मान द्वारा शेयर किए गए वीडियो से संसद की सुरक्षा को लेकर महत्त्वपूर्ण जानकारियां उजागर होती हैं। इन जानकारियों का इस्तेमाल देश विरोधी ताकतें और आतंकवादी संसद पर हमला करने में कर सकते हैं। यह समिति बुधवार को अपनी रिपोर्ट स्पीकर को सौंपेगी।

भगवंत मान ने इस साल जुलाई के तीसरे हफ्ते में संसद का लाइव वीडियो अपने फेसबुक सोशल नेटवर्किंग साइट पर जारी किया था। 21 जुलाई को उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लोगों को वीडियो के जरिए दिखाया था कि संसद में शून्यकाल के लिए सवाल कैसे चुने जाते हैं, संसद की कार्यवाही कैसे चलती है और संसद कैसे पहुंचा जाता है। संसद जाने के रास्ते में अपनी कार से उन्होंने शूटिंग करते हुए लाइव वीडियो जारी किया था। संसद परिसर के भीतर वीडियो बनाने के लिए उन पर संसद की सुरक्षा से खिलवाड़ का आरोप लगा था। बाकी पेज 8 पर

तब भाजपा, कांग्रेस समेत कई दलों ने कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए भगवंत मान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। तब मान टकराव के मूड में दिखे और संसद की और वीडियो बना कर फेसबुक पर डालने की धमकी दी थी। मान ने इसे अपना अधिकार बताते हुए कहा था कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने केवल लोगों की जानकारी के लिए इसे पोस्ट किया था। उन्होंने इस मामले में प्रधानमंत्री मोदी को भी लपेट लिया था। सांसद की दलील थी कि प्रधानमंत्री मोदी ने भी पाकिस्तान की सुरक्षा एजंसियों को पठानकोट एअरपोर्ट और तमाम संवेदनशील जगहों पर आने की अनुमति दे दी थी।

 

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 5:27 am

सबरंग