ताज़ा खबर
 

एक्स लवर से बदला लेने के लिए महिला ने बनाए बम, उड़ाना चाहती थी उसके चिथड़े

हरियाणा के पलवल की रहने वाली एक महिला ने पूर्व प्रेमी से बदला लेने के लिए उसकी हत्या की साजिश रची। महिला पर आरोप है कि उसने प्रेमी का घर उड़ाने का प्लान बनाया था और इसके लिए उसने तीन बम भी बनाए थे।
Author चंडीगढ़ | October 12, 2016 09:24 am
बम को डिफ्यूज करता बम निरोधक दस्ते का सदस्य। (Express Photo: Manoj Kumar)

हरियाणा के पलवल की रहने वाली एक महिला ने पूर्व प्रेमी से बदला लेने के लिए उसकी हत्या की साजिश रची। महिला पर आरोप है कि उसने प्रेमी का घर उड़ाने का प्लान बनाया था और इसके लिए उसने तीन बम भी बनाए थे। पुलिस के मुताबिक आरती नाम की इस महिला ने अपने एक्स ब्वॉयफ्रेंड के साथ मिलाकर इस प्लान को अंजाम देने की योजना बनाई थी। पुलिस ने पूछताछ के बाद से उनके पास से तीन बम बरामद किए, बमों को डिफ्यूज कर दिया गया है। दोनों ने पटाखे के बारुद, नाखून, कांच और पत्थर की सहायता से बम बनाया था। आरोपी प्रदीप और आरती को हत्या के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था, पूछताछ में दोनों ने इस बात का खुलासा किया।

आरती और प्रदीप ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि बमों को उन्होंने शमशाबाद स्थित आरती के दोस्त के घर में छिपाया था। बम को सामान के अंदर छुपाया गया था और आरती के दोस्त को भी इस बात की भनक नहीं थी। पुलिस ने बताया कि मौके से तीन बम बरामद हुए थे, जिसे डिफ्यूज करने में तीन-चार घंटे लग गए। वह ग्रेनेड के तरह दिखने वाले देशी बम थे।

वीडियो: पंपोर एनकाउंटर के दूसरे दिन जारी रहने से लेकर भारत के न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ जीत तक सभी बड़ी खबरें

पुलिस के मुताबिक आरती और राकेश की मुलाकात 2010 में हुई थी। इसके बाद राकेश अपनी पत्नी और तीन बच्चों को छोड़कर आरती के साथ रहने लगा। 6 साल आरती के साथ रहने के बाद उसने अपने परिवार के पास वापस लौटने का फैसला किया। इस काम में राकेश की मदद उसके एक रिश्तेदार बाबूलाल ने की। जिसके बाद से आरती बाबूलाल को अपना रिश्ता खत्म होने का जिम्मेदार मानने लगी। पुलिस ने बताया कि आरती ने पुराने प्रेमी प्रदीप के साथ मिलकर बाबूलाल की हत्या कर दी। वहीं, बाबूलाल का एक साथी धर्मपाल बेहोशी की हालत में मिला था। धर्मपाल ने आरती और प्रदीप पर बाबूलाल की हत्या का आरोप लगाया था, जिसके बाद दोनों को गिरफ्तार किया। पूछताछ में दोनों ने खुलासा किया कि उन्होंने ही बाबूलाल की हत्या की है। पलवल पुलिस के पीआरओ ने खुलासा किया दोनों ने धर्मपाल और बाबूलाल को शराब में नींद की गोलियां मिला कर दे दी थी। बेहोश होने पर बाबूलाल का गला रेतकर फरार हो गए थे।

READ ALSO: पंजाब: दलित की पैर कटी लाश बरामद, 6 लोगों पर केस दर्ज

पुलिस ने बताया कि बाबूलाल की हत्या के सिलसिले में पूछताछ के दौरान आरती ने बताया कि उसने राकेश को मारने के लिए तीन बम भी बनाए हैं। उनकी योजना बमों को राकेश के घर के अंदर फेंककर उसे मारने की थी। आरती और प्रदीप की मुलाकात करीब 10 साल पहले हुई थी। आरती की शादी प्रदीप के पड़ोसी कन्हैया लाल से हुई थी। आरती और प्रदीप की दोस्ती जल्द ही अफेयर में बदल गई और आरती ने प्रदीप के लिए अपने पति को छोड़ दिया। आरती का प्रदीप से रिश्ता खत्म होने के कुछ साल बाद उसकी मुलाकात राकेश से हुई। पुलिस के मुताबिक प्रदीप पर यूपी और हरियाणा में हत्या, हत्या की कोशिश समेत 13 मामले दर्ज हैं। वहीं जनवरी में उसने और उसके साथियों ने मिलकर गाजियाबाद से एक डॉक्टर को किडनैप करके उसकी हत्या कर दी थी।

READ ALSO: मुस्लिम लड़के की पुलिस हिरासत में मौत, व्हाट्सअप पर बीफ पर किया था ‘आपत्तिजनक’ कमेंट

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग