April 23, 2017

ताज़ा खबर

 

पूर्व विधायक की भांजी ने पति को मौत के घाट उतार बीएमडब्ल्यू कार में रखी लाश, मां-भाई की मदद से लगाना चाहती थी ठिकाने

मुख्य आरोपी सीरत ने पुलिस को बताया कि उसने भाई विनय और उसके एक दोस्त के साथ मिलकर एकम की हत्या की। एकम की हत्या शनिवार रात 11 बजे की गई। उन्होंने लाश को कार में रखकर नहर में फेंकने की योजना बनाई थी।

Author चंडीगढ़। | March 20, 2017 11:10 am
पूर्व विधायक की भांजी ने पति को गोली मारी। (ANI Photo)

पंजाब के मोहली में एक महिला द्वारा अपने पति की हत्या करके लाश को ठिकाने लगाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस बात का खुलासा उस समय हुआ जब एक ऑटो रिक्शा चालक ने पुलिस कंट्रोल रूम को फोन कर इस बात की जानकारी दी। ऑटो ड्राइवर ने मोहाली के एक पॉश इलाके में बीएमडब्ल्यू कार की पिछली सीट पर सूटकेस में लाश को देखकर इस बात की सूचना दी। एकम सिंह नाम के शख्स की हत्या के आरोप में पत्नी सीरत ढिल्लो, उसकी मां जसविंदर कौर और भाई विनय प्रताप बरार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एकम के पिता के बयान के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया। हत्या की वजह का खुलासा अभी नहीं हो सका है। पुलिस ने सीरत की लाइसेंसी बंदूक भी जब्त कर ली है। पुलिस को शक है कि हत्या में इसी हथियार का प्रयोग किया गया है।

मुख्य आरोपी सीरत ने पुलिस को बताया कि उसने भाई विनय और उसके एक दोस्त के साथ मिलकर एकम की हत्या की। एकम की हत्या शनिवार रात 11 बजे की गई। उन्होंने लाश को कार में रखकर नहर में फेंकने की योजना बनाई थी, लेकिन कार की चाबी नहीं मिलने की वजह से प्लान चेंज करना पड़ा और इसके बाद रविवार को लाश को ठिकाने लगाने का फैसला किया गया। सीरत ने बताया कि लाश को ठिकाने लगाने के लिए एक सूटकेस में डाला और घर के बेडरूम से नीचे कार पार्किंग में लाई। वजन ज्यादा होने के कारण वह सूटकेस को नीचे तक घसीट कर लाई। इस दौरान एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने यह देख लिया। वह किसी पैसेंजर को छोड़ने वहां आया हुआ था।

डिप्टी एसपी सिटी-1 आलम विजय सिंह ने बताया कि ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने सीरत की मदद की और सूटकेस को गाड़ी की रियर सीट पर रखवाया। इस दौरान उसे हाथ में खून लगा दिखा। जिस पर उसे कुछ शक हुआ और उसने तुरंत इस बात की जानकारी पास खड़ी पीसीआर वैन को दी। जानकारी के बाद जब पुलिस वहां पहुंची तो देखा कि सूटकेस गाड़ी में रखा हुआ था और कार का दरवाजा खुला था। सूटकेस को खोलने के बाद एकम की लाश बरामद हुई। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि एकम और सीरत के बीच कुछ साल से रिश्ते तनावपूर्ण थे। दोनों का एक 11 साल का बेटा और एक 6 साल की बेटी है।

पुलिस अधीक्षक (सिटी) परमिंदर सिंह ने पुष्टि की है कि सीरत ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और उसे सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सीरत ने कबूल किया है कि उसने माउजर गन ने एकम की हत्या की है, जो कि उसके नाम रजिस्टर है। जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरप्तार किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक सीरत कौर को सरदूलगढ़ के पूर्व विधायक अजीत सिंह मोफर की सगी भांजी बताया जा रहा है। मोफर अकाली दल के कद्दावर नेता माने जाते थे जो कि अकाली दल छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे। मोफर को कैप्टन अमरिंदर सिंह का करीबी माना जाता है।

JNU के छात्र ने आत्महत्या की, पंखे से लटकता मिला शव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 20, 2017 10:41 am

  1. No Comments.

सबरंग