December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

पंजाब: कांग्रेस की कर्ज माफी योजना का ‘कमाल’, राज्‍य में दोगुनी कर दी किसानों की संख्‍या

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, पंजाब में किसानों पर करीब 70,000 करोड़ रुपए का कर्ज है।

Author जालंधर | October 27, 2016 07:23 am
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

पंजाब विधानसभा चुनावों के लिए जोर-शोर से प्रचार कर रही कांग्रेस ने ‘जादू’ कर दिया है। राज्‍य में किसानों को लुभाने के लिए पार्टी द्वारा अभियान के तौर पर चलाई जा रही किसान कर्ज माफी योजना ”कर्जा कुर्की खतम, फसल दी पूरी रकम” को जबर्दस्‍त रिस्‍पांस मिला है। ऐसा रिस्‍पांस कि ”कर्ज से डूबे किसान’ जिन्‍होंने योजना के लिए अब तक आवेदन किया है, उनकी संख्‍या राज्‍य में किसानों की आधिकारिक संख्‍या की दोगुनी हो गई है। लोगों की ऐसी प्रतिक्रिया देखकर कांग्रेस ने 10 लाख ‘मांगपत्र’ और बंटवाने का फैसला किया है। पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं से इन फॉर्म्‍स को 4 नवंबर पर भरवाने को कहा है। नेशनल सैंपल सर्वे ऑफिस के अनुसार, पंजाब में 14 लाख किसान परिवार हैं। हालांकि पंजाब कांग्रेस द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर पार्टी ने अब तक किसानों से 29 लाख मांगपत्र भरवाए हैं। पार्टी ने इसके लिए मंडियों से लेकर गांवों तक का भ्रमण किया। पंजाब में 13,000 से ज्‍यादा गांव हैं, जिनमें से नौ हजार से ज्‍यादा गांवों तक कांग्रेस के कार्यकर्ता पहुंच चुके हैं। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, पंजाब में किसानों पर करीब 70,000 करोड़ रुपए का कर्ज है।

जानिए, दिन भर की पांच बड़ी खबरें: 

प्रशांत किशोर के करीबी और पंजाब में कांग्रेस के प्रचार में प्रमुख भूमिका निभा रहे डोनिल शर्मा ने कहा कि उनके घर-घर अभियान और बस यात्रा के दौरान किसानों से 29 लाख फॉर्म भराए गए हैं। जब यह बताया गया कि पंजाब में करीब 14 लाख किसान परिवार हैं, तो उन्‍होंने स्‍वीकार किया कि दोहराव हुआ है। उन्‍होंने कहा कि मंडी में बैठे किसान और घर पर उनके परिवारवालों ने भी फॉर्म अलग-अलग भरे हैं क्‍योंकि कांग्रेस कार्यकर्ता मंडी और इन परिवारों, दोनों जगह जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा, ”हम इस प्रक्रिया के बाद हर फॉर्म को डिजिटलाइज करेंगे और फिर कर्ज में डूबे किसानों की असली संख्‍या सामने आ सकेगी।” उन्‍होंने कहा कि कई ‘खेत पर काम करने वाले मजदूर’ थे जो कर्ज में डूबे थे। दावा किया कि इस पूरी कवायद से न सिर्फ किसानों बल्कि पंजाब के खेतिहर मजदूरों के कर्ज की स्थिति भी साफ हो जाएगी।

READ ALSO: योग दिवस के बाद अब मनेगा राष्‍ट्रीय आयुर्वेद दिवस, धनतेरस पर कार्यक्रम चलाएगी मोदी सरकार

शिरोमणि अकाली दल के तोता सिंह, तो कि राज्‍य के कृषि मंत्री भी हैं, ने इसे धोखाधड़ी बताया है। उन्‍होंने कहा, ”एक घर में, कर्ज की एक ही रकम होती है।” सिंह ने कहा कि ऐसी ही एक योजना 1972 में कांग्रेस के ज्ञानी जैल सिंह के नेतृत्‍व में लॉन्‍च की गई थी जिसमें उन्‍होंने पंजाब के भूमिहीन लोगों से फॉर्म भराए, वादा किया कि पंजाब के बड़े जमींदारों से लेकर सबको 5 एकड़ खेत देंगे, लेकिन वादा पूरा नहीं कर पाए।

READ ALSO: चुनाव प्रचार के लिए अखिलेश यादव ने बनवाया वीडियो, पत्‍नी डिंपल और बच्‍चे मौजूद मगर मुलायम नदारद

कांग्रेस ने कर्ज माफी योजना 12 अक्‍टूबर से 25 अक्‍टूबर तक चलाई थी। इस दौरान राज्‍य कांग्रेस प्रमुख कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कई मंडियों का दौरा कर फॉर्म भरवाए और मालवा क्षेत्र में तीन दिनों के लिए ‘बस यात्रा’ निकाली।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 7:23 am

सबरंग