ताज़ा खबर
 

OROP सुसाइड: पूर्व सैनिक का हुआ अंतिम संस्कार, पहुंचे राहुल और केजरीवाल

बुधवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन के मामले पर प्रदर्शन कर रहे पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल ने सुसाइड कर लिया था।
पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल का अंतिम संस्कार गुरुवार को उनके भिवानी स्थित गांव में हुआ। (Photo: ANI)

दिल्ली के जंतर मंतर पर बुधवार को वन रैंक वन पेंशन को लेकर सुसाइड करने वाले पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल का अंतिम संस्कार गुरुवार को उनके गांव में किया गया। आत्महत्या करने वाले सूबेदार रामकिशन हरियाणा में भिवानी जिले के गांव बामला के निवासी थे। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अंतिम संस्कार में शामिल होने और पीड़ित परिवार से मिलने गांव पहुंचे हैं। यहां कांग्रेस नेता कमलनाथ और दीपेंद्र सिंह हूडा पहले से मौजूद हैं। इसके अलावा रणदीप सुरजेवाला भी राहुल गांधी के साथ इस मुलाकात में शामिल हुए हैं।

बता दें कि दिल्ली के जंतर-मंतर पर सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन के मामले पर प्रदर्शन कर रहे पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल ने सुसाइड कर लिया था। इसके बाद मामले पर दिनभर सियासी संग्राम चला। परिवार से मिलने अस्पताल पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को मिलने नहीं दिया गया और पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया था। हालांकि बाद में तीनों को छोड़ दिया गया। इस पूरे मामले पर विपक्ष ने मोदी सरकार के खिलाफ हमलावर रुख अपना लिया है।

वीडियो : पूर्व सैनिक के अंतिम संस्‍कार में शामिल हुए राहुल गांधी व अरविंद केजरीवाल

मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “मोदी जी ने झूठ बोला कि OROP लागू हो गया। मोदी जी सैनिकों से माफी मांगें। आज मोदी जी के फर्जी राष्ट्रवाद की पोल खुल गई।” केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने राजनेताओं से इस मामले पर राजनीति ना करने की अपील की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. D
    Deepak
    Nov 3, 2016 at 8:31 am
    Sabhi partiya apni apni roti sekne me lagi hai...aur kejriwal ji to subhan allah..
    Reply
  2. P
    Pramod Kumar Bajpai
    Nov 3, 2016 at 11:27 am
    विशेषकर दिल्ली में आत्म हत्या को राजनैतिक रूप देकर विशाल आयोजन में बदने से एक अपराध परिवार के लिये काफ़ी धन,नौकरी आदि देता है क्या उचित है कहाँ है विचारशील पत्रकारिता ?,,कोई भी डिप्रेस्ट वृद्ध आत्महत्या जैसा अपराध कर के परिवार को काफ़ी दे सकता है बस एक राजनैतिक रंग चाहिये।
    Reply
  3. V
    Vijay
    Nov 3, 2016 at 6:28 am
    बेचारे राहुल और केजरीवाल . कहीं भी मौत हो , या तो गिद्ध खुश होते हैं या यह दोनों . इनको हमेशा किसी की मौत का इंतज़ार रहता है.
    Reply
  4. S
    shivshankar
    Nov 3, 2016 at 12:17 pm
    केजरीवाल जी आरएसएस की बी टीम हैं इनको आदेश है की आप बीजेपी के विरुद्ध जाने वाली वोटों का बंटवारा कीजिये दिल्ली इलेक्शन मैं जनता समझ नहीं पाई थी केजरीवाल कभी भी आरएसएस के किलाफ कुछ क्यों नहीं बोलते?
    Reply
सबरंग