April 26, 2017

ताज़ा खबर

 

OROP सुसाइड: अरविंद केजरीवाल ने की पूर्व सैनिक के परिवार को 1 करोड़ रुपए देने की घोषणा

बुधवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन के मामले पर प्रदर्शन कर रहे पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल ने सुसाइड कर लिया था।

दिल्ली पुलिस ने बुधवार को राहुल गांधी और मनीष सिसोदिया को भी हिरासत में लेने के बाद छोड़ दिया था। (Photo: ANI)

वन रैंक वन पेंशन को लेकर सुसाइड करने वाले पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल का उनके भिवानी स्थित गांव में गुरुवार को अंतिम संस्कार किया गया।  हरियाणा में भिवानी जिले के गांव बामला के निवासी सुबेदार रामकिशन ने बुधवार को दिल्ली के जंतर मंतर पर सुसाइड कर लिया था, जिसके बाद से ही सियासत गर्मा गई थी। गुरुवार को अंतिम संस्कार में शामिल होने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई राजनेता पहुंचे। सीएम केजरीवाल ने रामकिशन के परिवार को एक करोड़ रुपए का मदद देने का एलान किया है। वहीं हरियाणा सरकार भी 10 लाख रुपए का मुआवजा और परिवार के एक सदस्‍य को नौकरी देने की घोषणा की है।

अंतिम संस्‍कार में आए केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सरकार वन रैंक वन पेंशन लागू करे। पीएम मोदी ने देश से झूठ बोला है। हमें कल दिल्‍ली में पीड़‍ित परिवार से मिलने नहीं दिया गया इसलिए हम आज उनसे मिले। अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस नेता कमलनाथ, भूपेंद्र सिंह, दीपेंद्र सिंह हूडा, टीएमसी नेता डेरेक ओब्रायन समेत कई नेता मौजूद थे।

टीएमसी के मुख्य प्रवक्ता डेरेक ओब्रायन ने सुबह ही गांव पहुंचकर परिवार वालों से मुलाकात कर ली थी। डेरेक ब्रायन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बुधवार को अस्पताल में परिवार से मिलने की कोशिश कर रहे राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल को मिलने दिया जाना चाहिए था।

वीडियो में देखिए, पूर्व सैनिक के अंतिम संस्‍कार में शामिल हुए राहुल गांधी व अरविंद केजरीवाल

डेरेक ओब्रायन ने कहा कि कल (बुधवार) को जो भी हुआ उसमें परिवार का दोगुना नुकसान हुआ है। उन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को तो खोया ही, साथ ही उनके साथ मारपीट भी की गई। ऐसा नहीं होना चाहिए था। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने राजनेताओं से इस मामले पर राजनीति ना करने की अपील की है।

बता दें कि दिल्ली के जंतर-मंतर पर सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन के मामले पर प्रदर्शन कर रहे पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल ने सुसाइड कर लिया था। इसके बाद मामले पर दिनभर सियासी संग्राम चला। परिवार से मिलने अस्पताल पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को मिलने नहीं दिया गया और पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया था। हालांकि बाद में तीनों को छोड़ दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 1:44 pm

  1. K
    khanchandani
    Nov 3, 2016 at 11:21 am
    nahut accha c.m. saheb. Uri main be 19 jawan shahid huve hain. Unkya kya?
    Reply
    1. N
      Narendra Batra
      Nov 4, 2016 at 9:51 am
      us ne 1 karor ru apne baap ki kamai ka nahi diya hai delhi walo ki khun paseene se kamai gai hai usme se diya hai sabse pahle ye suwar ye ghoshna kyoki kya iska baap tha ya iski maa ka yaar tha ye badwa delhi me marne walo ke yaja jata nahi hai hariyana apni maa ke aro ko tohfa de raha hai aur jo aatmhatya karta hai wo shaheed nahi kahlaqta kyoki usne desh ke liye nahi paise ke liye jaan di hai aur ye naatak karna chahta tha uska dogla beta uski recording kaise kai
      Reply
      1. N
        Narendra Batra
        Nov 4, 2016 at 9:55 am
        wo janta tha ki uska baap jahar sath lekar a hai aur wo khayega to usne rokne ki koshish kyo nah ki 2 2 kiste logo ko mili hai suwarkejriwal chila chila ke bol raha hai modi ke muh se chhen kar paise lenge to kya modi ne isse udhar liye thre aur pagotu pappu jake apni us nachnewali maa se puch kar aaye ki usne 10 salo me ye paas kyo nahi kiya tha aur suwarwala jiske baap ne sarjikal ki thi us suwar se puchho 60 saal apni maa bahan kyo karwai thi 1973 se ye cansal thi tab chu
        Reply

        सबरंग