ताज़ा खबर
 

जगदीश गगनेजा हमला मामले में सीएम बादल से मिले भाजपा व संघ के नेता

आरएसएस की पंजाब शाखा के उपाध्यक्ष जगदीश गगनेजा पर शनिवार (6 अगस्त) की रात जालंधर में हमला हुआ। वे फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं।
Author चंडीगढ़ | August 9, 2016 05:42 am
आरएसएस के स्टेट वाइस प्रेसिडेंट जगदीश गगनेजा (FILE PHOTO)

संघ के नेता जगदीश गगनेजा पर हुए हमले की पृष्ठभूमि में भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार (8 अगस्त) को पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से यहां भेंट कर राज्य में कानून-व्यवस्था की ‘खराब’ होती स्थिति पर चिंता जताई। बादल ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि शांति और सांप्रदायिक सौहार्द सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने पंजाब में शांति और सांप्रदायिक सौहार्द भंग करने के प्रयासों को बिल्कुल बर्दास्त नहीं करने की अपनी सरकार की नीति को दोहराया। आरएसएस की पंजाब शाखा के उपाध्यक्ष जगदीश गगनेजा पर शनिवार (6 अगस्त) की रात जालंधर में हमला हुआ। वे फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं। हालांकि लुधियाना में गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती गगनेजा से मिलने के बाद बादल ने कहा कि कानून-व्यवस्था की समस्या खड़ी करने में आंतरिक या बाहरी ताकतों का भी हाथ हो सकता है। यह (गगनेजा पर हमला) दूसरी तरह का मामला लगता है, जिसमें पड़ोसी देश का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि एक-दूसरे की आलोचना करने की बजाय हमें एकता और भाईचारा बनाए रखना चाहिए। मुख्यमंत्री ने अस्पताल में गगनेजा के परिजनों से भेंट की और डॉक्टरों से उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछा।

इससे पहले उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने भी गगनेजा का हालचाल पूछा।प्रदेश पार्टी प्रमुख और केंद्रीय मंत्री विजय सांपला के नेतृत्व वाले भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि बैठक में हमने प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर चिंता जताई। हमने कहा कि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए समुचित कदम उठाने की आवश्यकता है। पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा भी इस बैठक में मौजूद थे। उधर, गगनेजा का इलाज कर रहे चिकित्सकों ने बताया कि आरएसएस नेता की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। हीरो डीएमसी हार्ट इंस्टीट्यूट के निदेशक जीएस वांडेर ने कहा कि गगनेजा वेंटीलेटर पर हैं और पीजीआइएमईआर व डीएमसीएच के वरिष्ठ चिकित्सकों के दल ने उनकी जांच की है। इस हमले की जांच के लिए चार सदस्यीय एसआइटी पहले ही गठित की जा चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग